सिद्धार्थनगर। जन समस्याओं, शिकायतों के त्वरित समाधान के लिए आयोजित होने वाले तहसील दिवस और थाना दिवस के लिए पहले से लागू व्यवस्था में फेरबदल किया गया है। मंगलवार की जगह प्रत्येक माह के प्रथम और तृतीय शनिवार को तहसील दिवस और माह के द्वितीय और चतुर्थ शनिवार को थाना दिवस आयोजित होगा। 

आमजन की समस्याओं से संबंधित शिकायती पत्रों के समयबद्ध निस्तारण के लिए तहसील दिवस और थाना दिवस का आयोजन किया जाता है। पूर्व में लागू व्यवस्था के तहत माह के प्रत्येक प्रथम और तीसरे मंगलवार को तहसील दिवस और प्रथम और तृतीय शनिवार को थाना दिवस का आयोजन हो रहा था। अब मुख्यमंत्री के निर्देश पर तहसील दिवस प्रत्येक माह के प्रथम और तृतीय शनिवार को तहसील दिवस का आयोजन होगा, जबकि माह के द्वितीय और चतुर्थ शनिवार को थाना दिवस आयोजित होंगे। तहसील दिवस में प्राप्त होने वाली शिकायतों का निराकरण पांच दिवस के भीतर करना अनिवार्य होगा। तहसीलों के लिए अपर जिलाधिकारी और थानों के लिए अपर पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारी नोडल बनाए जाएंगे। जन महत्व के इन कार्यक्रमों के लिए जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक जवाबदेह होंगे। अपर जिलाधिकारी सीताराम गुप्ता ने बताया कि नई व्यवस्था के बारे में सोशल मीडिया के माध्यम से मिली है, पर अभी लिखित रूप से कोई पत्र प्राप्त नहीं हुआ है। पत्र मिलने के बाद अनुपालन कराया जाएगा।

रिपोर्ट - राधेश्याम यादव