श्रावस्ती। कलेक्ट्रेट सभागार में शनिवार को डीएम की अध्यक्षता में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक हुई। इसमें बकरीद को शांतिपूर्ण माहौल में मनाने की अपील की गई। अराजकता फैलाने वालों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए। 

डीएम ने बैठक में मौजूद धर्म गुरुओं से कहा कि बकरीद और श्रावण मास को शांतिपूर्ण वातावरण में मनाने में सहयोग करें। एएसपी बी0सी0 दुबे ने कहा कि बकरीद और श्रावण मास के दृष्टिगत आपसी सौहार्द बनाए रखते हुए तथा कोविड-19 के प्रोटोकॉल को ध्यान में रखकर शांतिपूर्वक ढंग से त्यौहार मनाएं। कहा कि खलल पैदा करने की कोशिश करने वालों पर कड़ी कार्रवाई होगी।

उन्होंने कहा कि क्षेत्र में किसी की ओर से अराजकता फैलाने की आशंका हो तो सरकारी नंबर पर तत्काल सूचना दें। ताकि समय रहते अराजक तत्वों के विरुद्ध विधिक कार्रवाई की जा सके। कहा कि माहौल को बिगाड़ने की कोशिश करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कहा कि त्योहार के दिन सभी थानों की पुलिस अलर्ट रहेगी। अगर कोई गड़बड़ी करने की कोशिश करते हुए मिला तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

कोविड-19 सुरक्षा के मद्देनजर रखते हुए एहतिहात बरत कर मनाये त्योहार

  जनपद में आगामी त्योहार शान्तिपूर्ण माहौल में सम्पन्न कराये जाने के मद्देनजर शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी टी0के0 शिबु की अध्यक्षता में जिला शान्ति समिति की बैठक सौहार्दपूर्ण वातावरण में आयोजित हुई। इसमें प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मौजूद सभी संभ्रान्त नागरिकों ने आशा जताई कि पूर्व वर्षाे की भांति इस वर्ष भी जनपद में ईदुज्जुहा (बकरीद) का त्योहार भाई-चारे के साथ मनाया जायेगा।

     बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि साम्प्रदायिक सौहार्द के लिए जनपद अपनी अलग पहचान रखता है। उन्होने जनपदवासियों से अपील करते हुए कहा कि बकरीद के त्योहार में भाईचारे की मिशाल कायम रखें। जिला प्रशासन की ओर से साफ सफाई, विद्युत एवं पानी आदि के माकूल बन्दोबस्त कराये जायेंगे, साथ ही यह भी स्पष्ट किया कि जिले के अमन-चौन से खिलवाड़ करने वालो के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। जिलाधिकारी ने सभी लोगांे से अपेक्षा की है त्योहार के अवसर पर कोई ऐसा कार्य न करे जिससे किसी दूसरे व्यक्ति की भावनाएं आहत हो। उन्होने कहा कि त्योहार के दौरान कोविड-19 के सुरक्षात्मक प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें, और साथ मास्क का प्रयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग अपनाकर घर पर ही त्योहार मनायें। उन्होने कहा कि जिले में बिना अनुमति के कोई भी जुलूस नही निकलेगा, और प्रतिबन्धित जानवरों की कुर्बानी नही की जायेगी तथा सामूहिक कुर्बानी पर भी प्रतिबन्ध रहेगा। सार्वजनिक स्थानों पर मादक पदार्थ, अवैध मदिरा, शराब का सेवन आदि पूर्ण रूप से वर्जित रहेगा। यदि कोई भी व्यक्ति जो बिना अनुमति के जुलुस निकालते या सार्वजनिक स्थलों पर मदिरा पान करते पाया गया तो उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित की जायेगी।

     पुलिस अधीक्षक अरविन्द कुमार मौर्य ने कहा कि सभी लोग बकरीद का त्योहार एक-दूसरे की भावनाओं का आदर करते हुए मिल-जुल कर मनाये। उन्होने कहा कि त्योहार के अवसर पर गुड पुलिसिंग की व्यवस्था रहेगी। उन्होने संभ्रान्तजनों व बुजुर्गों से अपील करते हुए कहा कि त्योहार के अवसर पर संयमित आचरण तथा कोविड-19 के सुरक्षात्मक प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए सभी को हिदायत दें।

    इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक बी0सी0 दुबे, उपजिलाधिकारी प्रवेन्द्र कुमार, उपजिलाधिकारी राजेश कुमार मिश्रा, उपजिलाधिकारी आर0पी0 चौधरी, पुलिस क्षेत्राधिकारी एम0पी0 शर्मा, अधिशासी अभियंता विद्युत आर0एस0 मौर्या, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका भिनगा अवधेश कुमार भारती, अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत इकौना प्रेमनाथ, निरीक्षक एल0आई0यू0 राकेश कुमार चन्द्र, सहित अधिकारी/कर्मचारीगण, थाना प्रभारीगण तथा हिन्दु/मुस्लिम संगठनों के पदाधिकारीगण एवं बुद्धिजीवी वर्ग उपस्थित रहें।