उत्तर प्रदेश में पुलिसकर्मियों पर होने वाले हमले थमने का नाम लेते नजर नहीं आ रहे हैं। मामला आगरा जिले का है, जहां पुलिसकर्मियों का युवकों से कर हटाने की कहना भारी पड़ गया। जिसके बाद युवकों चीता मोबाइल के सिपाहियों से गालीगलौज के बाद मारपीट कर दी। एक सिपाही की वर्दी भी फाड़ दी। थाने की फोर्स ने पहुंचकर दोनों आरोपियों को पकड़ा। उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया

ये है मामला

जानकारी के मुताबिक, आगरा के थाना कमला नगर के प्रभारी निरीक्षक नरेंद्र शर्मा ने बताया कि सोमवार रात को थाना के सिपाही अंकित सिंह और धीरज गौतम बल्केश्वर क्षेत्र में ड्यूटी कर रहे थे। दोनों बल्केश्वर मार्केट में गश्त करते हुए शांति चौक की तरफ से आ रहे थे। तभी एक कार बीच सड़क पर खड़ी दिखी। इससे जाम लग रहा था। लोगों को आने-जाने में परेशानी हो रही थी। कार में हाथरस के थाना सादाबाद स्थित नदी वाली गली निवासी अंकित गोयल और उसका साला टेढ़ी बगिया निवासी बृजेश अग्रवाल बैठे थे। उनसे सिपाहियों ने कार बीच सड़क से हटाने के लिए बोल दिया।

सिपाही के गाल पर मारा थप्पड़

आरोप है कि यह सुन दोनों सिपाहियों से गालीगलौज करने लगे। कार से उतरकर सिपाही अंकित के गाल पर थप्पड़ मार दिया। सिपाही धीरज ने बचाने का प्रयास किया, लेकिन उनसे भी गालीगलौज करते हुए जान से मारने की धमकी दी। अंकित की वर्दी भी फाड़ दी। चीता मोबाइल को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। सूचना पर थाना की फोर्स पहुंच गई। पुलिस दोनों को थाने पर लेकर आई। इस मामले में सिपाही अंकित सिंह की तहरीर पर सरकारी कार्य में बाधा, मारपीट, गालीगलौज, जान से मारने की धमकी, तोड़फोड़ की धारा में मुकदमा दर्ज किया गया है।