मुजफ्फरनगर के एसएसपी अभिषेक यादव अपने काम के लिए हमेशा जाने जाते है। फिर चाहे मामला अच्छे काम पर पुलिसकर्मियों को सम्मानित करने का हो या फिर लापरवाही पर सजा देने का। एसएसपी कभी पीछे नहीं हटते। मामला सोमवार देर रात का है, जब चेकिंग के दौरान ड्यूटी से नदारद दिखे छह पुलिसकर्मियों को एसएसपी ने सस्पेंड कर दिया। इसके साथ ही बाकियों को चेतावनी दी कि इस तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

देर रात चेकिंग पर निकले थे एसएसपी

जानकारी के मुताबिक, देर रात निरीक्षण के दौरान एसएसपी अभिषेक यादव सबसे पहले भोपा क्षेत्र के कस्बा मोरना में पहुंचे। यहां उन्होंने दवा विक्रेता अनुज कर्णवाल की हत्या को लेकर सवालों के घेरे में आए मोरना चौकी प्रभारी जगपाल सिंह के साथ ही बीट आरक्षी सचिन कुमार को ड्यूटी में कोताही बरतने के चलते तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। इसके बाद एसएसपी ने जनपद के थाना पुरकाजी क्षेत्र का निरीक्षण किया। यहां ड्यूटी में लापरवाही उजागर होने पर एसआई बिजेंद्र यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया।

उसके पश्चात एसएसपी छपार, चरथावल होते हुए थाना भौराकलां क्षेत्र में पहुंचे, जहां भौराकलां थाने का सिपाही सतेंद्र कुमार ड्यूटी में लापरवाही पाए जाने पर निलंबित किया गया। फिर बुढ़ाना कोतवाली क्षेत्र में कांस्टेबल राशिद को एसएसपी ने ड्यूटी में लापरवाही पाए जाने पर निलंबित किया, जिसके बाद थाना रतनपुरी में तैनात कांस्टेबल संदीप कुमार कप्तान के गुस्से की भेंट चढ़ा।

पुलिसकर्मियों को दी चेतावनी

इसके साथ एसएसपी ने साफ शब्दों में ये कहा है कि ड्यूटी में लापरवाही किसी भी पुलिसकर्मी को बख्शा नहीं जाएगा। अगर कोई पुलिसकर्मी भ्रष्टाचार और ड्यूटी लापरवाही करता हुआ पाया जाएगा तो उसके खिलाफ इसी तरह से कार्रवाई की जाएगी.