उत्तर प्रदेश में इस समय कई जिलों में पुलिसकर्मी कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे हैं, जिसके चलते अब अफसर से लेकर सिपाही पर वायरस का खतरा मंडराने लगा है। मुख्यमंत्री ने टीम 11 की बैठक में पुलिसकर्मियों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है। पुलिसकर्मी खुद फील्ड पर रहकर अपनी सुरक्षा भी कर रहे हैं। कई जिलों के पुलिसकर्मी सेल्फ आइसोलेशन में भेजे गए हैं।

वायरस के बावजूद डटे पुलिसकर्मी

कोरोना वायरस तेजी से फ़ैल रहा है बावजूद इसके यूपी पुलिस लोगों की सुरक्षा में डटी हुई है। सूबे में हर जगह से इनमें कोरोना वायरस से संक्रमित होने की सूचना है।कई पुलिसकर्मियों के पॉजिटिव होने से देश के सबसे बड़े सुरक्षा बल में काफी खलबली मची है। पॉजिटिव के लक्षण के बाद अधिकांश पुलिसकर्मी जिला अस्पतालों में क्वॉरंटाइन हैं।

मुख्यमंत्री ने जताई चिंता

यूपी पुलिस के लाखों जवान इसी हालत में ड्यूटी पर हैं। बिना पीपीई किट के भी पुलिस के जवान अपनी चिंता करे बिना ही ड्यूटी पर मुस्तैद हैं। मुख्यमंत्री ने टीम 11 की बैठक में पुलिसकर्मियों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है। इसके साथ ही पुलिसकर्मियों को एन 95 मास्क उपलब्ध कराने की बात कही है।

इन जिलों में हुए पॉजिटिव

पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सात पुलिसकर्मियों का कोरोना टेस्ट पॉजिटिव पाया गया है। इनमें एक सब इंस्पेक्टर, तीन हेड कांस्टेबल और तीन कांस्टेबल शामिल हैं। वहीं कानपुर के अनवरगंज थाने के दो और अनवरगंज क्षेत्रधिकारी कार्यालय के एक पुलिसकर्मी की कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आई है। इससे पहले भी अनवरगंज थाने व अभियोजन शाखा के एक-एक सिपाही में संक्रमण की पुष्टि हो चुकी है। इसके अलावा फिरोजाबाद के रामगढ़ थाना प्रभारी सहित 28 पुलिसकर्मी क्वारंटाइन में हैं। कोरोना के संक्रमण में पुलिसकर्मियों को चोर पकडऩा भी भारी पड़ता दिख रहा है। चोर को पकडऩे के बाद आगरा के हरीपर्वत इंस्पेक्टर समेत चार लोगों को पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन में जाना पड़ा। बहराइच में लॉकडाउन में मुस्तैदी से जुटे दो दारोगा समेत 12 पुलिस कर्मियों को होम आइसोलेट किया गया है। वहीं मुंबई से कोरोना वायरस के पॉजिटिव चचेरे भाइयों को लाने वाले कार ड्राइवर की वजह से प्रयागराज कौंधियारा थाने के पूरे स्टाफ को क्वारंटाइन कर दिया गया है। 


रिपोर्ट - चंदू शर्मा