क्या है कोरोना वायरस ?
1. कोरोना वायरस के संक्रमण से जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है।
2. डब्लूएचओ के मुताबिक संक्रमण के फलस्वरूप बुखार, जुकाम, सांस लेने में तकलीफ, नाक बहना और गले में खराश, खांसी जैसी समस्या उत्पन्न होती हैं तथा इसके लक्षण फ्लू से मिलते-जुलते हैं। 
3. यह वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है। 
इससे बचाव के उपाय-
स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कोरोना वायरस से बचने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं-
1.अपने हाथों को बार-बार साबुन से धोना चाहिए, हैंड सेनिटाइजर का अधिक से अधिक   
  इस्तेमाल करें। अगर आपको लगता है कि आप बीमार हैं, तब मास्क का उपयोग करें।
2.खांसते और छीकते समय नाक और मुंह रूमाल या टिश्‍यू पेपर से ढककर रखें।
3.जिन व्‍यक्तियों में कोल्‍ड और फ्लू के लक्षण हों उनसे दूरी बनाकर रखें।
4. अंडे और मांस के सेवन से बचें। 
5.जंगली जानवरों के संपर्क में आने से बचें।
6. पर्यावरण को स्वच्छ रखे।
7. सार्वजनिक व भीड़-भाड़ वाले स्थानो पर जाने से बचे जितना संभव हो सके घर में रहें और अपने प्रियजनों व परिवार के साथ वक्त बिताएं। 
नोट- स्वास्थ्य मंत्रालय भारत सरकार की तरफ से 24 घंटे चलने वाला कंट्रोल रूम तैयार किया गया है, फोन नंबर 011-23978046 के माध्यम से कंट्रोल रूम में संपर्क किया जा सकता है, इसके अलावा ncov2019@gmail.com पर ई-मेल कर के भी कोरोना वायरस के लक्षणों या किसी भी तरह की आशंकाओं के बारे में जानकारी ली जा सकती है।
 ---------------------------------------
1.सरकार द्वारा प्रत्येक नागरिक के बेहतर स्वास्थ्य, सुरक्षा हेतु कठोर कदम उठाए गए हैं।
2.किसी प्रकार की स्वास्थ्य संबंधी समस्या होने पर आपातकाल सेवा 102,108 या सरकार द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर पर तत्काल कॉल करें।
3. किसी व्यक्ति को स्वास्थ्य संबंधी समस्या की होने सूचना पर मेडिकल टीम द्वारा तत्काल पहुंचकर जांच व इलाज किया जा रहा है।
4. किसी अन्य बहकावे में न आए (जैसे- झाड़-फूंक, दुआ-ताबीज आदि) समस्या होने पर निकटतम स्वास्थ्य सामुदायिक केंद्र जाकर डॉक्टर से परामर्श अवश्य ले।
5. पीड़ित व्यक्ति को कदापि न छिपाएं बल्कि पुलिस या मेडिकल टीम को सूचना अवश्य दें।
6.बीमारी को लेकर कदापि न घबराए ना ही अफवाहों पर ध्यान दें।
श्रावस्ती पुलिस आपकी सेवा में सदैव तत्पर