जहां एक तरफ कोरोना वायरस से बचने के लिए सरकार हर तरह से कोशिश कर रही है, वहीँ अब यूपी पुलिस कोरोना के साथ साथ घरेलु हिंसा से भी महिलाओं को जागरूक कर रही है. दरअसल, यूपी 112 ने एक ट्वीट किया है कि ‘कोरोना को दबाएं, अपनी आवाज को नहीं.’ दरअसल, यूपी में 112 (UP 112) सेवा ने घरेलू हिंसा की पीड़ित महिलाओं के लिए एक अभियान (Campaign) शुरू किया है.

किया ये ट्वीट

जानकारी के मुताबिक, यूपी 112 ने अपने ट्वीट में महिलाओं के लिए एक मेसेज दिया है. ट्वीट में लिखा था कि घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाएं न घबराएं, 112 मिलाएं. कॉल करते ही महिला पुलिसकर्मी उनके घर आएंगी. ये उस पीड़ित महिला का पंजीकरण करेंगीं और उसके खिलाफ हिंसा करने वाले शख्स को सचेत करेंगी.

विमेंस डे पर की थी अभियान की शुरुआत 

बता दें कि यूपी 112 हर तरह से महिलाओं की सुरक्षा में लगी हुई है. आधुनिक समाज के बावजूद कई जगह महिलाएं आज भी घरेलु हिंसा का शिकार होती हैं. ऐसे में यूपी पुलिस ने ऐसी महिलाओं की मदद को एक नयी पहल की शुरुआत की है. जिसके अंतर्गत डीजीपी हितेश चन्द्र अवस्थी के निर्देश के बाद एक सॉफ्टवेर तैयार किया गया है. जिसमे पीड़ित महिलाओं की डिटेल्स सेव की जाएँगी.

अगर कोई महिला इस सॉफ्टवेर में अपना पंजीकरण कराती है तो मुसीबत के समय कॉल करके उसे ज्यादा जानकारी देनी की जरूरत नहीं पड़ेगी. शिकायत मिलते ही त्वरित रिस्पॉन्स के लिए निकटतम पीआरवी और महिला पीआरवी को मैसेज भेजा जाएगा. जीपीएस लोकेशन के आधार पर यूपी 112 की टीम तत्काल वहां पहुँच जाएगी.

रिपोर्ट - चंदू शर्मा