मुंबईः दिल्ली में हुई हिंसक झड़प के बीच मुंबई में भी सोमवार रात कुछ प्रदर्शनकारी बिना पुलिस इजाजत के मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया और ताज पैलेस होटल के नजदीक जमा होने लगे. पुलिस ने सूचना मिलते ही इन प्रदर्शनकारियों को पुलिस गेटवे ऑफ इंडिया परिसर से हटा दिया. जिसके बाद यह प्रदर्शनकारी मुंबई के मरीन ड्राइव पर पहुंच गए. मुंबई पुलिस की सतर्कता और अतिरिक्त पुलिस बल के चलते इन प्रदर्शनकारियों को मरीन ड्राइव पर प्रदर्शन करने की इजाजत नहीं मिली और चेतावनी देने के बाद इन प्रदर्शनकारियों को मुंबई पुलिस ने हिरासत में ले लिया.

बता दें कि रात करीब 12 से 1 बजे के बीच में पुलिस ने 30 से अधिक प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया. इसके बाद आजाद मैदान पुलिस स्टेशन में इन प्रदर्शनकारियों को रखा गया है. इन प्रदर्शनकारियों में से 10 लोगों की पहचान की गई है जो इस भीड़ को उकसाने का काम कर रहे थे. मुंबई पुलिस के मुताबिक जल्द ही इन पर आपराधिक मामला दर्ज किया जाएगा. मुंबई पुलिस सूत्रों के मुताबिक यह 10 लोग वही प्रदर्शनकारी हैं जो नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी के विरोध के नाम पर कई बार कानून तोड़ चुके हैं.

दरअसल, मुंबई पुलिस को खुफिया सूचना मिली थी कि दिल्ली की तर्ज पर मुंबई में भी कुछ असामाजिक तत्व अशांति फैला सकते हैं. जिसको लेकर मुंबई पुलिस पहले से अलर्ट पर थी. दिल्ली में बढ़ती हिंसा को देखते हुए मुंबई में हाई अलर्ट जारी किया गया है. इसके साथ ही मुंबई के संवेदनशील इलाकों में पुलिस बल की संख्या बढ़ा दी गई है।


रिपोर्ट - चंदू शर्मा