बस्ती: सोमवार की सुबह सरयू नदी में डूबे रामउग्रह का शव बुधवार की सुबह सरयू नदी में मिला। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नदी से बाहर निकलवाया।

आंबेडकर नगर जनपद के गोविदापुर गांव के 55 वर्षीय राम उग्रह की शादी मटियरिया गांव में मंगरु की बेटी बासमती से हुई थी। हरियाणा में एक निजी कंपनी में काम करते थे। एक सप्ताह पूर्व चार बच्चों के साथ उनकी पत्नी मायके मटियरिया गांव आयी थी। परिवार को घर ले जाने के लिए वह ससुराल आए थे। सोमवार की सुबह शौच करने की बात कह कर निकले। काफी समय तक वापस न पहुंचने पर परिवार के लोग खोजने लगे, पर पता नही चला। सूचना पर पुलिस गोताखोरों के जरिये शव की तलाश करा रही थी। इसी बीच उनका छोटा बेटा उन्हें ढूंढते हुए सरयू नदी के किनारे कलवारी रामपुर बंधे के ठोकर नंबर तीन पर पहुंचा जहां पिता रामउग्रह का कपड़ा, चप्पल व मोबाइल पड़ा था। ऐसे में लोगों ने उनके नदी में डूबने की आशंका जताई थी।

चौकी इंचार्ज कुदरहा शशिकांत ने बताया कि शव का पंचनामा कराकर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट मिलने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा।

रिपोर्ट - सुशील शर्मा | जिला ब्यूरो चीफ़ बस्ती