नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में हुई हिंसा के बाद राजधानी दिल्ली (Delhi Violence) जरूर संभल रही है लेकिन अब दंगे की भीषण तस्‍वीरें अब निकलकर आ रही है. इस मामले में शाहदरा के डीसीपी अमित शर्मा की पत्नी पूजा शर्मा (DCP Amit Sharma wife Pooja Sharma) का बड़ा बयान सामने आ रहा है. उन्होने बताया कि कैसे धोखे से उनके पति पर दंगाइयों ने हमला बोला और उन्हें घायल कर दिया.

पूजा शर्मा ने बताया कि उनका परिवार हाल ही सामने आए वीडियोज को देखकर बहुत ही दुखी है. उन्होंने कहा कि मेरे पति प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए गए थे. वह सिर्फ महिलाओं का एक समूह था. उन्होंने मेरे पति का हेलमेट उतारा और भीड़ ने उन पर हमला कर दिया. मैं सरकार से अपील करना चाहती हूं कि दंगाइयों के खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाए.

बता दें कि हाल ही में दिल्ली हिंसा से जुड़े दो वीडियो सामने आए हैं. जो 24 फरवरी की चांद बांग की हिंसा को दिखा रहे हैं। इन विडियो में दिख रहा है कि 2000 से भी अधिक एंटी-सीएए प्रदर्शनकारी पुलिस वालों पर बुरी तरह से हमले कर रहे हैं, उन पर पत्थर फेंक रहे हैं और यहां तक कि उन पर गोलियां भी चला रहे हैं.

यह वही घटना है, जिसमें हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की गोली मारकर हत्या कर दी गई, जबकि डीसीपी अमित शर्मा गंभीर रूप से घायल हो गए. उनके अलावा एसीपी अनुज कुमार और करीब दर्जन भर अन्य पुलिसवाले भी घायल हुए. इन विडियो में दिख रहा है कि पुलिस पर हमला करने वाली भीड़ में कुछ महिलाएं भी थीं.

गौरतलब है कि 24 फरवरी को दिल्‍ली में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) की मुखालफत और समर्थकों के बीच हिंसा भड़क गई थी. पुलिस ने स्थिति संभालने की कोशिश की लेकिन भीड़ ने पुलिस पर ही हमला बोल दिया. इसमें कई पुलिस अधिकारी घायल हुए थे और हेड कांस्‍टेबल रतन लाल शहीद हुए. इस संबंध में एसीपी अनुज कुमार ने बताया कि महज 20-25 मिनट में पूरी घटना घटी. पुलिस और दंगाईयों के बीच महज 10-15 मी की दूरी थी. दंगाई लगातार तेजी से पत्‍थरबाजी कर रहे थे. इस कारण पुलिसकर्मी चोटिल हुए.


रिपोर्ट - चंदू शर्मा