कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन लगाना पड़ा,जिसके चलते तमाम लोगों को कई तरह की दिक्क्त हुई इस दौरान खाकी मसीहा बनकर सामने आई. खाना, खून से लेकर खिदमत तक पुलिसकर्मियों ने अपनी जान पर खेलकर हर संभव मदद की. संक्रमित लोगों को तलाश कर क्वॉरेंटाइन में भेजने तक का काम भी खाकी वर्दी ही करती नजर आ रही है.

पुलिस ही संक्रमित और संदिग्ध व्यक्तियों के आसपास नजर आती है. ऐसे में पुलिस को भी खतरे से दूर नहीं माना जाता जा सकता है. इस बात को ध्यान में रखते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार ने हर पुलिसकर्मी का 50 लाख का इंश्योरेंस देने का फैसला किया है.

अपर मुख्य सचिव (गृह और सूचना) अवनीश अवस्थी ने मंगलवार को इसकी जानकारी दी. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिसकर्मियों को ₹50 लाख का इंश्योरेंस दिए जाने के आदेश दिए हैं. इसके लिए लिखित आदेश भी बहुत जल्द जारी किए जा रहे हैं. बताया यह भी जा रहा है कि बुधवार शाम पांच बजे होने वाली कैबिनेट बैठक में भी इस बात पर मुहर लग सकती है.

इसके अलावा उत्तर प्रदेश सरकार की कोरोना के खिलाफ तैयारियों के बारे में बताते हुए अवनीश अवस्थी ने कहा कि प्रदेश में कुल 750 वेंटीलेटर हो चुके हैं. इस समय प्रदेश में कोई भी कोविड मरीज वेंटीलेटर पर नहीं है. सभी सामान्य स्थिति में हैं. मुख्यमंत्री ने लेवल-3 के हॉस्पिटल ज्यादा संख्या में बनाने के निर्देश दिए हैं. मुख्यमंत्री खाली पड़े हॉस्पिटल को टेकओवर करने का आदेश दिया है. यह पूरी प्रक्रिया चिकित्सा और चिकित्सा शिक्षा विभाग की देखरेख में होगी.


रिपोर्ट - चंदू शर्मा