कानपुर (Kanpur) के नर्वल थाने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, जिसमें शिकायत करने पहुंची महिला से बात करते समय एसओ अपनी मर्यादा भूलकर अभद्रता करते सुने जा रहे हैं। हालांकि, इस वीडियो में नर्वल इंस्पेक्टर दिखाई नहीं दे रहे, लेकिन उनकी आवाज ठीक तरह से सुनाई दे रही है। वीडियो में थाना परिसर भी दिख रहा है, जिसमें एक महिला कांस्टेबल भी नजर आ रही है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, एक महिला जमीन के कब्जे की शिकायत एसओ रामऔतार से करती हुई सुनाई दे रही है। थाने में दोनों पक्ष मौजूद हैं। इसी दौरान महिला की शिकायत पर एसओ आरोपी को डांट-फटकार लगाते हुए सुनाई दे रहे हैं।

वायरल वीडियो में बातचीत के दौरान ही एसओ महिला से कह रहे हैं कि इस बार आना तो ब्लाउज फाड़कर आना। फिर दुष्कर्म की धारा में मुकदमा दर्ज कर लूंगा। एसओ आरोपी को गाली देते हुए अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहे है। इस दौरान वहां मौजूद किसी शख्स ने पूरी घटना वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया।

वहीं, मामले की जानकारी होने पर डीआईजी प्रीतिंदर सिंह ने रामऔतार को लाइन हाजिर कर मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। सूत्रों ने बताया है कि नर्वल एसओ रामऔतार का विवादों से पुराना नाता है। ग्रामीणों ने बताया कि वह दो साल से थाने में टिके हुए थे, उनकी अभद्रता से ग्रामीण परेशान थे।

ग्रामीणों ने बताया कि कुछ महीने पहले उन्होंने भाजपा नेता के भाई जालिमपुरवा गांव निवासी नीरज पाल को थाने बुलाकर पीटा था। मामले में भाजपाइयों ने तत्कालीन डीआईजी अनंत देव से शिकायत भी की थी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई थी।