श्रावस्ती। मल्हीपुर थाने का बुधवार को एसपी अरविंद कुमार मौर्या ने औचक निरीक्षण किया। इस दौरान मेस व बारकों के आसपास मानक के अनुरूप साफ सफाई मिली। इसी के साथ एसपी ने थाने में आने वाले पीड़ितों के बैठने के स्थान का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि किसी भी पीड़ित को पहले बैठाया जाए उसके बाद उसकी वेदना पूछी जाए। पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य द्वारा थाना मल्हीपुर का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान थाना कार्यालय, परिसर, बैरक, मेस के साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिए। थाना कार्यालय के रजिस्टरों को चेक किया गया तथा उनके रख रखाव एवं उनमें पायी गई कमियों की सुधार हेतु प्रभारी निरीक्षक को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया।

         महिला हेल्प डेस्क पर नियुक्त महिला कर्मचारियों से उनकी समस्याओं आदि के बारे में जानकारी ली गई तथा उन्हें अपने कर्तव्यों के प्रति सजग रहने हेतु बताया गया। पुलिस अधीक्षक द्वारा कर्मचारियों को बताया गया कि कोविड-19 से सुरक्षा एवं बचाव के दृष्टिगत सभी लोग कोविड-19 प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखते हुए मास्क, ग्लब्स व सैनिटाइजर का प्रयोग करें तथा सामाजिक दूरी का पालन करें। इस दौरान प्रभारी निरीक्षक ददन सिंह सहित अन्य कर्मचारीगण मौजूद रहे।          

किसी भी पीड़ित के साथ पुलिस बर्बर व्यवहार न करे। ऐसा करने वाले पुलिस अधिकारियों को छोड़ा नहीं जाएगा। थाने में आने वाले पीड़ितों को त्वरित न्याय मिलना चाहिए। भूमि विवाद जैसे मामलों में पुलिस किसी भी रूप में पार्टी न बने।

भूमि विवाद का निपटारा राजस्व अधिकारियों के साथ मिल कर ही किया जाए। इस दौरान एसपी ने कहा कि इस तरह का निरीक्षण अब प्रत्येक दिन कहीं न कहीं होगा। इसलिए थाना व चौकी प्रभारी के साथ साथ क्षेत्रों में तैनात होने वाले पुलिस कर्मी निर्धारित समय पर अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य ने थाना परिसर, आगन्तुक कक्ष, हवालात, बैरक, मालखाना, शस्त्रागार, भोजनालय, थाना कार्यालय में रजिस्टरों को गहनता से चेक किया। अभिलेखो और शस्त्रों के रखरखाव को लेकर सम्बंधित को निर्देश दिया कि यह कार्य व्यवस्थित करें जिससे जरूरत पड़ने पर अभिलेखों को अधिक खोजना न पड़े और शस्त्रों की आवश्यकता पड़ने पर वह ठीक तरह से काम करें।