एमएनटी न्यूज़ श्रावस्ती: आज से अग्निशमन सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत हुई है। जिसके तहत फायर पुलिस रैलियां निकाल कर लोगों को आग से बचाव के लिए जागरूक करेगी लेकिन इसके साथ ही यूपी पुलिस ने आज के दिन को कुछ ख़ास लोगों को समर्पित भी किया। 

प्रदेश की श्रावस्ती पुलिस ने अग्निशमन सेवा स्मृति दिवस के तौर पर इसे मनाते हुए शहीद हुए। अग्निशमन जवानों को श्रद्धांजलि दी. श्रावस्ती पुलिस ने मनाया अग्निशमन सेवा स्मृति दिवस उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती जिले के फायर स्टेशन मुख्यालय भिनगा में अग्निशमन सेवा स्मृति दिवस के अवसर पर शहीद हुए अग्निशमन जवानों को अधिकारियों कर्मचारियों में श्रद्धांजलि अर्पित की।

यूपी में आग से बचाव के लिए लोगों को जागरुक करने वाले अग्नि सुरक्षा सप्ताह की शुरुआत आज से होगी। फायर पुलिस रैलियां निकालकर शहरी और ग्रामीण इलाकों में आग लगने से बचाव के बारे में जागरुकता अभियान चलाएगें।

क्यों मनाया जाता है अग्निशमन सप्ताहः 

अग्निशमन सप्ताह की शुरुआत साल 1944 के बाद हुई थी , मुंबई के बंदरगाह पर भीषण आग लग गयी थी , जिसमें फायर ब्रिगेड के 66 जवान शहीद हो गये थे। तब से उनकी याद और सम्मान में हर साल 14 अप्रैल से अग्नि सुरक्षा सप्ताह मनाया जाता है। पूरे सप्ताह तरह - तरह के जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है.

फायर स्टेशन पर मंगलवार को अग्नि सुरक्षा सप्ताह का शुभारंभ किया गया। सुरक्षा सप्ताह का पहला दिन अग्निशमन सेवा दिवस के रूप में मनाया गया। इस मौके पर स्मृति परेड का आयोजन किया गया तथा दिवंगत अग्निशमन कर्मियों को पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। फायर बिग्रेड कर्मियों ने अग्निशमन सेवा दिवस शहीदी दिवस के रुप में मनाया। इस मौके पर फायर सर्विस स्टेशन पर शहीदों को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। तथा शोक परेड का भी आयोजन किया गया। अग्निशमन सप्ताह के तहत लोगों को स्टीकर लगाकर तथा पंपलेट बांटकर अग्नि सुरक्षा उपायों की जानकारी दी।

 जानिए पूरी ख़बर 

श्रावस्ती जिले में आज दिनांक 14 अप्रैल 2020 को फायर सर्विस मुख्यालय भिनगा पर अग्निशमन सेवा स्मृति दिवस के अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक बी0सी0 दूबे द्वारा शहीद अग्निशमन कर्मियों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई तथा अग्नि सुरक्षा सप्ताह प्रारंभ किया गया यह 14 अप्रैल से 20 अप्रैल तक चलेगा। कोरोना-वायरस से सुरक्षा एवं बचाव के दृष्टिगत सामाजिक दूरी का पूर्णतया पालन किया गया।

अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा बताया गया कि यह स्मृति दिवस 14 अप्रैल 1944 में मुंबई बंदरगाह में फोर्टस्टीकेन नामक मालवाहक जहाज जिसमें रुई की गांठे, विस्फोटक एवं युद्ध उपकरण भरे हुए थे, में अकस्मात आग लग गई थी। आग को बुझाते समय जहाज में विस्फोटक सामग्री होने के कारण 66 अग्निशमन कर्मी आग की चपेट में आकर वीरगति को प्राप्त हुए थे। इन बहादुर अग्निशमन कर्मियों की स्मृति में प्रत्येक वर्ष 14 अप्रैल को अग्निशमन दिवस मनाया जाता है। इस दौरान प्रभारी फायर सर्विस वीरेंद्र कुमार सहित फायर सर्विस पुलिसकर्मी उपस्थित रहे।