श्रावस्ती: दिनांक 23.11.2020 को पुलिस लाइन क्वार्टर गार्द में पुलिस अधीक्षक अरविंद कुमार मौर्य द्वारा पुलिस झण्डा दिवस- 2020 के अवसर पर पुलिस ध्वजारोहण किया गया।

       इस मौके पर पुलिस अधीक्षक ने सभी पुलिस कर्मियों को सम्बोधित करते हुए कहा-         

  “आज का दिन उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए ऐतिहासिक महत्व का दिन है क्योकि आज के ही दिन 23 नवम्बर 1952 को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जी द्वारा उत्तर प्रदेश पुलिस एवं पीएसी को पुलिस ध्वज प्रदान किया गया था। हमारा पुलिस ध्वज हम सभी के गौरवशाली अतीत का जीवंत प्रतीक है। पुलिस विभाग के प्रति निष्ठावान हमारे वीर साथियों की अहर्निश जन-सेवा, कर्तव्यपरायणता, पराक्रम, शौर्य तथा आत्म बलिदान की अनगिनत गाथाओं के बाद पुलिस ध्वज प्राप्ति की से इस गौरवमयी उपलब्धि का मार्ग प्रशस्त हो सका। पुलिस ध्वज को फहराने और उसके प्रति सम्मान प्रदर्शित करते समय हमे आत्म अभिमान की अनुभूति होती है और हम सभी में कर्तव्यनिष्ठा की नई ऊर्जा संचरित होती है, जो हमें नए जोश और उत्साह के साथ कर्तव्यपालन के लिए प्रेरित करती है। यह परम सौभाग्य की बात है कि पुलिस जैसे बल में आकर हमको कमजोर व पीड़ित व्यक्तियों को न्याय दिलाकर उनकी मदद करने का अवसर मिला है। इसलियें हमें गर्व के साथ धैर्यपूर्वक न्यायपूर्ण कार्य करते हुए पुलिस विभाग की छवि उज्जवल करनी है और इस पुलिस ध्वज की गरिमा बढानी है। चूंकि आम जनता के हर व्यक्ति की हमसे कुछ न कुछ अपेक्षा रहती है और सभी लोगों की हर समय हमारे ऊपर नजर रहती है। इसी कारण हमारी एक भी गलत हरकत के प्रसारित होने से पूरे पुलिस विभाग की छवि धूमिल हो सकती है। सच्चे व ईमानदार पुलिस कर्मिको को भी ऐसी हरकतों के कारण नजर झुकानी पड़ सकती है। हम सभी को यह संकल्प लेना चाहिए कि हम अपने कर्तव्यों का निर्वहन पूरी सत्यनिष्ठा व ईमानदारी के साथ करेंगे, सभी पीड़ित जन कोपूरी संवेदनशीलता, शालीनता और निष्पक्ष दृढ़ता के साथ विधि सम्मत न्याय दिलाने मेंपूर्ण सहयोग करेंगे।  

         इस पावन अवसर पर मै आप सभी से यह अपेक्षाकरता हूं कि आप सभी इस गरिमामयी उपलब्धि का गौरव बनाए रखेंगे और अपने संवेदनशील व शौर्यपूर्ण कर्तव्यनिष्ठा से ऐसे अनुकरणीय उदाहरण प्रस्तुत करेंगे, जिससे आने वाली पीढ़ी को प्रेरणा मिले और उत्तर प्रदेश पुलिस के स्वर्णिम इतिहास में नित नए आयाम स्थापित होते रहें।” 

         इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक बी0सी0 दूबे, प्रतिसार निरीक्षक विनोद कुमार सिंह व अन्य सभी रैंक के करीब 250 पुलिस कर्मी उपस्थित रहे।

           साथ ही साथ सभी थाना/चौकी पर प्रभारी द्वारा ध्वजारोहण कर श्री मान पुलिस महानिदेशक उ0प्र0 के संदेश को पढकर सुनाया गया तथा उपस्थित सभी कर्मचारियों की वर्दी की बायीं जेब पर ध्वज प्रतीक लगाया गया।         

क्या है झंडा दिवस का महत्व

यूपी पुलिस के इतिहास में 23 नवंबर का दिन बहुत महत्वूपर्ण है। 23 नवंबर 1952 के बाद प्रति वर्ष सैनिक कल्याण के लिए झंडे के स्टीकर जारी किए जाते हैं। पुलिस झंडा दिवस यानि प्रति वर्ष 23 नवंबर को पुलिस मुख्यालयों व कार्यालयों, पीएसी वाहिनियों, क्वार्टर गार्द, थानों, भवनों व कैम्पों पर पुलिस ध्वज फहराए जाते हैं। पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा पुलिस ध्वज का प्रतीक (स्टीकर) वर्दी की बाईं जेब के ऊपर लगाया जाता है। यह सिलसिला 23 नवंबर 1952 से लगातार जारी है।