उत्तर प्रदेश के सीतापुर में दलित नाबालिग से गैंगरेप (Sitapur Dalit Minor Gangrape) का आरोपी विकलांग हो सकता है. डॉक्टरों का कहना है कि गोली लगने से घाव गंभीर हो गया है, जल्द रिकवर न हुआ तो आरोपी का पैर काटना पड़ेगा, जिससे वह विकलांग हो जाएगा. बता दें कि सीतापुर पुलिस ने रविवार देर सामूहिक दुष्कर्म के मुख्य आरोपी आसिफ को एनकाउंटर में गिरफ्तार किया है. आसिफ ने 4 साथियों संग मिलकर दलित बच्ची के साथ दरिंदगी की थी, इतना ही नहीं हैवानियत का वीडियो बनाकर उसे वायरल भी कर दिया था.

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, इमलिया थाना क्षेत्र में हरगांव बार्डर पर सधुवापुर पुल के पास पुलिस आरोपियों की तलाश में चेकिंग कर रही थी. इस बीच पुलिस को एक आरोपी नजर आया. पुलिस ने जब उसे रोकने की कोशिश की तो आरोपी ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी. वहीं, पुलिस ने अपने बचाव करते हुए जवाबी फायरिंग की तो गोली आरोपी के पैर में जा लगी.

गोली लगने की वजह से आरोपी मौके पर ही गिर गया, जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि गोली लगने से घायल हुए आरोपी का नाम आसिफ है, जो अभी तक अज्ञात में हुई एफआईआर में शामिल था. पुलिस ने बताया कि आसिफ को देर रात इलाज के लिए हरगांव सीएचसी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहा से उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया गया.

बता दें कि बीती 7 सितंबर को इमिलिया सुल्तानपुर थाना क्षेत्र में एक दलित नाबालिग लड़की के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया गया था. आरोप है कि आरोपियों ने घटना का वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया जिसके बाद पीड़िता के परिजनों को स्थानीय लोगों के माध्यम से घटना की जानकारी हुई.