आज यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) रिटायर हो गये हैं इसी के साथ अब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हितेश चन्द्र अवस्थी (Hitesh Chandra Awasthi) के नाम पर मुहर लगा दी है. अब ताजपोशी के लिए सिर्फ संघ लोक सेवा आयोग की औपचारिकता पूरी होने का इंतजार है.

यह आईपीएस बने कार्यकारी डीजीपी

डीजीपी बनने की रेस में वरिष्ठता सूची के क्रम में 1985 बैच के आइपीएस अधिकारी डीजी विजिलेंस हितेश चंद्र अवस्थी (Hitesh Chandra Awasthi) सबसे आगे थे. वरिष्ठता के आधार पर डीजीपी के चयन होने की स्थिति में हितेश चंद्र अवस्थी को ही यूपी पुलिस का कार्यकारी डीजीपी बनाया गया है.

1985 बैच के भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) हितेश चंद्र अवस्थी की गिनती ईमानदार अफसरों में होती है. हितेश अवस्थी 13 सालों तक सीबीआई में रहे हैं और फिलहाल वह डीजी सतर्कता अधिष्ठान हैं. वह जून 2021 में रिटायर होंगे.

आज रिटायर हुए डीजीपी

आज अपने रिटायरमेंट के दिन डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) को शाही तरीके से पारंपरिक परेड के साथ विदाई दी जा रही है. डीजीपी ओपी सिंह को डॉज विंटेज कार में बैठाकर विदाई दी जाएगी. अपनी रिटायरमेंट से पहले डीजीपी ओपी सिंह ने एक वीडियो जारी करके सभी को शुक्रिया किया है. उन्होंने कहा कि पिछले 2 वर्षों में कड़ी मेहनत से हमने यूपी पुलिस का नेतृत्व किया है.

सलामी के बाद रिटायर होने वाले डीजीपी एक खास कार में बैठकर अपने घर जाते हैं. खास बात ये है कि इस कार को एक्सीलेटर दबाकर नहीं बल्कि पुलिस के जवान और अधिकारी रस्से से खींचते हैं. 1956 मॉडल की किंग्सवे डॉज कार में बैठकर डीजीपी ओपी सिंह अपने घर जाएंगे.


रिपोर्ट- चंदू शर्मा