मुंबई,महाराष्ट्र में 11 आदिवासी छात्रों ने बोर्डिंग स्कूल प्रशासन पर यौन शोषण और अत्याचार का आरोप लगाया है. शिकायत के बाद पुलिस ने स्कूल प्रशासन पर पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज किया है.

मामला महाराष्ट्र के मिनी कश्मीर कहे जाने वाले पंचगनी के कैंब्रिज इंग्लिश स्कूल का है. पूरे घटनाक्रम का खुलासा उस वक्त हुआ जब कुछ युवकों ने इन बच्चों को भागते हुए देखा और रोककर सवाल किया कि क्यों भाग रहे हो.

सवाल के जवाब में अपना हाल बताते हुए ये 11 नाबालिग छात्र रो पड़े. युवकों ने छात्रों की पीड़ा जानने के बाद उन्हें वापस स्कूल पहुंचाने की बात कही लेकिन पीड़ित छात्रों ने पंचगनी के पुलिस थाने में जाने की गुजारिश की.

पंचगनी पुलिस थाना के मुख्य अधिकारी इन भागे हुए बच्चों को सतारा के निरीक्षण गृह में ले गए. वहां पर मौजूद बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष और जिला प्रशासन की ओर से बच्चों से पूछताछ की गई तो बच्चों ने कहा कि स्कूल के टीचर और स्कूल प्रशासन की ओर से बच्चों को टॉर्चर किया जा रहा था.


कुछ छात्रों ने कहा कि रात के वक्त उनके बिस्तर में कोई आदमी घुस जाता है और गलत हरकतें करता है. कुछ पीड़ित बच्चों ने बताया कि उन्हें खाना नहीं दिया जाता, तो कभी जूठा खाना दिया जाता है और इसी कारण परेशान होकर बच्चे स्कूल से भाग गए.

इस बोर्डिंग स्कूल में 292 छात्र शिक्षा ले रहे हैं. ये सभी 11 बच्चे सुबह 11 बजे स्कूल के खिड़की से कूदकर भाग रहे थे. तभी युवकों ने देखकर बच्चों से बात की और मामले का खुलासा हुआ. फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है.