उत्तर प्रदेश के बरेली से एक रोचक मामला सामने आया है। पुलिस ने काफी कोशिश के बाद उस डकैती को डालने वाले गिरोह का राजफाश किया भूत बनकर वारदातों को अजांम देते थे। आज पुलिस ने भूत और उसके गिरोह को गिरफ्तार कर सलाखो के पिछे भेजा। आईए आपको बताते है इस भूत के गजब कारनामें।

कौन है ये भूत, जिसको पुलिस ने किया गिरफ्तार

आपको बता दें कि, व्यापारी जलीस अहमद अपनी पत्नी और बच्चों के साथ मकान की ऊपरी मंजिल पर सो रहे थे। उसी दौरान करीब एक दर्जन नकाबपोश बदमाशों ने उनके घर पर धावा बोला और हथियारों के बल पर पूरे परिवार को बंधक बनाकर लाखों की नकदी व जेवर समेत करीब 12 लाख की डकैती डाली थी। एसएसपी रोहित सजवाण ने बताया की कई टीम लगा कर बदमाशों की धरपकड़ के प्रयास शुरू किए। इसी दौरान पुलिस को पता चला कि फरहान जो कि दोस्तों और गैंग के मेंबर्स में भूत नाम से मशहूर है, के गिरोह ने इस डकैती को अंजाम दिया है। 


25 दिन बाद इस भूत का खुलासा

घटना के 25 दिन बाद पुलिस ने वारादात का खुलासा करते हुए भूत गैंग के 10 बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दो बदमाश अभी भी फरार हैं। पुलिस को बदमाशों के पास से पांच तमंचों के साथ व्यापारी के घर से लूटे गए जेवर और ढाई लाख की नकदी भी बरामद हुई है। दरअसल, फरहान के भूत नाम से मशहूर होने की कहानी भी कम दिलचस्प नहीं है। फरहान रात भर आवारागर्दी करता था और दिन में घोड़े बेच कर सोता था। बरेली के सुभाषनगर का रहने वाला फरहान गैंग का सरगना है। पूछताछ में उसके साथियों ने पुलिस को बताया कि इसे लोग भूत इसलिए बुलाते हैं कि, वह दिन में सोता है और रातभर घूमता है। इसी के चलते उसे रिश्तेदार और दोस्त भूत कहने लगे। आलम ये हुआ कि, धीरे-धीरे पूरा मोहल्ला उसे फरहान की जगह भूत के नाम से बुलाने लगा। इसके बाद जब उसने जुर्म की दुनिया में कदम रखा तो उसकी गैंग का नाम भी भूत गैंग हो गया। भूत नाम के डर से छोटे-मोटे गिरोह उंसके सामने आने की हिम्मत नहीं जुटाते हैं। 

भूत गैंग की ये है पहली वारदात 

गिरोह को गिरफ्तार करने वाली टीम के प्रभारी देहात एसपी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि, पकड़े गए बदमाशों ने पूछताछ में अपना नाम फरहान उर्फ भूत, मंजीत, इरशाद अहमद उर्फ भूरा उर्फ इशरार, इस्तकार उर्फ गंठा, आमिर, राजू खान, दानिश, अकील खां उर्फ कल्लू उर्फ कलवा, संजीव उर्फ गुड्डू, रोज वारसी उर्फ रोज उर्फ शहबाज खान उर्फ बिहारी बताया। वहीं उसके फरार साथियों के नाम मुसाहिद उर्फ अजय, रुस्तम है। ऐसा नहीं है कि भूत गैंग की ये कोई पहली वारदात है। इन सभी के खिलाफ पहले भी कई कई मुकदमे दर्ज हैं। फिलहाल भूत को जेल भेज दिया गया है।