तीन और पशु तस्करों को मुठभेड़ में पुलिस ने धर दबोचा। आरोपितों को देर रात तब पकड़ा गया जब पुलिस को देख आरोपित भागने लगे। पुलिस ने पीछा किया तो बचाव के लिए आरोपितों ने पुलिस पर फायर झोंक दिया। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी फायर झोंका जिसमे एक पशु तस्कर दिनेश गुर्जर निवासी अलीगंज के पैर में गोली लगी। दिनेश के गोली लगते ही उसके दोनों साथियों भूरा और अजीम खान भी धर लिए गए। पशु तस्करों के खिलाफ अब गैंगस्टर एक्ट की कार्रवाई करने के साथ अवैध संपत्ति जब्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी। तस्करों की कमाई से किये गए अवैध निर्माण पर बुलडोजर भी चलेगा।

ये है आरोप

इज्जतनगर पुलिस ने बुधवार को चोरी की चार भैंस, एक कटरा व पिकअप के साथ तीन पशु तस्करों बाबू, निजामुद्दीन व आबिद निवासी सैदपुर चुन्नीलाल भोजीपुरा को गिरफ्तार किया था। पूछताछ में आरोपितों ने गिरोह के तीन तस्करों दिनेश गुर्जर निवासी रफियाबाद अलीगंज हाल पता कांधरपुर कैंट, भूरा यादव निवासी गुलाबनगर चौडेरा फरीदपुर व अजीम निवासी हिमगिरी कालोनी हरथला सिविल लाइंस मुरादाबाद के नाम कबूले थे। आरोपितों ने बताया था कि पूरा गिरोह पशु चोरी कर आस-पास के शहरों की बाजार में बेचता है तथा बगैर दुधारू पशु को कटवा दिया जाता है।

मुठभेड़ में बदमाशों ने डाले हथियार

तीनों की निशानदेही पर पुलिस ने दिनेश गुर्जर, भूरा व अजीम को पकड़ने के लिए तय स्थान पर घेराबंदी की। इसी दौरान पुलिस को देखकर दिनेश गुर्जर ने फायर झोंक दिया। गनीमत रही कि गोली पुलिस कर्मी को नहीं लगी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने गोली चलाई जो दिनेश के पैर पर जा लगी। उसके गिरते ही दोनों साथियों ने हथियार डाल दिये। तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपितों ने कचोली, चैनामुरादापुर, कितकापुर, कमुआ, हाफिजगंज क्षेत्र के मल्लपुर व भोजीपुरा में पशु चोरी की वारदातों को कुबूला। गुरुवार को मेडिकल कराकर सभी छह पशु तस्करों को जेल भेज दिया गया।

कई जिलों में दर्ज हैं मुकदमे

इज्जतनगर इंस्पेक्टर संजय कुमार के मुताबिक, पशु तस्कर दिनेश गुर्जर कैंट तथा भूरा फरीदपुर थाने का हिस्ट्रीशीटर है। थाने के टाप-10 बदमाशों की सूची में दोनों का नाम है। आरोपितों पर शाहजहांपुर, पीलीभीत, बदायूं में भी पशु चोरी के मुकदमे दर्ज हैं। इज्जतनगर में भी आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज है जिसमे आरोपित वांछित थे। दिनेश के खिलाफ 11, भूरा यादव पर नौ व अजीम पर तीन मुकदमे दर्ज हैं।

सुपारी किलर है दिनेश गुर्जर

आरोपित दिनेश गुर्जर बेहद ही शातिर इरादों वाला है। दिनेश सुपारी किलर है। पूछताछ में सामने आया कि वर्ष 2019 में फतेहगंज पश्चिमी में डा. असलम की दिनेश ने सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी थी। आरोपित शातिर लुटेरा भी है। उसके ऊपर हत्या, डकैती, लूट व अन्य मामलों में भी मुकदमे दर्ज हैं। आरोपित बाबू, निजामुद्दीन व आबिद के खिलाफ भी कई मुकदमे दर्ज हैं। एसएसपी रोहित सिंह सजवाण ने बताया कि स्मैक तस्करों की तर्ज पर पशु तस्करों के खिलाफ भी गैंगस्टर की कार्रवाई होगी। गैंग पंजीयन के साथ तस्करों की संपत्ति जब्त की जाएगी।