उत्तर प्रदेश के चंदौली (Chandauli) से अनुसूचित जाति की नाबालिग बच्ची (Dalit Minor Girl) से सामूहिक दुष्कर्म का सनसनीखेज मामला सामने आ रहा है. चारों आरोपी युवक सांप्रदाय विशेष के बताए जा रहे हैं. पीड़िता के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है. वहीं मामला दो अलग-अलग सांम्रदायों से जुड़ा हुआ है इसीलिए किसी अप्रिय घटना से बचने के लिए इलाके में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.


पीड़िता के परिजनों के अनुसार ओबरा थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गाँव निवासी नाबालिग शनिवार को अपने नाना के यहां गयी हुई थी. पीड़िता के अनुसार गाँव में साप्ताहिक बाजार रविवार को लगता है. शाम लगभग 7 बजे के करीब बाजार में सामान खरीदारी के दौरान ही किशोरी अपनी मौसी से पूछकर शौच करने के लिए पास के खेत में चली गई. इसी बीच मौका देखकर कनहरा गांव के चार युवकों द्वारा किशोरी का जबरिया मुंह दबाकर उसे अरहर के खेत में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया गया. इस बीच किशोरी की चीख-पुकार सुनकर नाबालिक बच्चों की टोली खेत के करीब पहुंचकर ईट पत्थर चलाकर किशोरी को बचाने का प्रयास करने लगी.


वहीं इसी बीच अचानक बच्चों द्वारा किए जा रहे हमले से दुष्कर्म में शामिल चारों आरोपी मौके से फरार हो गए. इतने में अपनी जान बचाकर किशोरी अपनी मौसी के पास पहुंच कर आपबीती बतायी. मामले की सूचना लगते हैं परिजनों द्वारा इसकी जानकारी ओबरा पुलिस को दी गई.

वहीं इस मामले की जानकारी देते हुए एसपी सोनभद्र ने बताया की ओबरा थाना क्षेत्र में एक युवती से सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है. पीड़िता के परिजनों द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर 376डी, 506 आईपीसी, 3/4 पास्को एक्ट, 3(2)5 एससीएसटी एक्ट के तहत मुकदमा पंजीकृत कर दुष्कर्म में शामिल चारों आरोपी 20 वर्षीय सफाकत अली पुत्र इमाम हुसैन, 24 वर्षीय जलील मोहम्मद पुत्र साबिर अली, 19 वर्षीय ताजुद्दीन पुत्र अफ़सल हुसैन व एक नाबालिग लड़के सभी निवासी कनहरा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.


इलाके में भारी पुलिस बल तैनात 

पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया की घटना में शामिल सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली गई है. साथ ही पीड़िता को चिकित्सकीय परीक्षण हेतु भेज दिया गया है. बताया कि तहरीर के आधार पर सुसंगत धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किए जाने के साथ ही घटनास्थल का निरीक्षण अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार तथा क्षेत्राधिकारी राहुल पांडेय द्वारा कर लिया गया है. वहीं गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती भी कर दी गई है.