देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स गौतम अडाणी के नेतृत्व वाली अडाणी विल्मर का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए आज सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गया। इस आईपीओ में निवेशक 31 जनवरी तक इसमें निवेश कर सकेंगे। आज पहले दिन खुलने के साथ ही यह 12 फीसदी सब्सक्राइब्ड हो गया और इसका रिटेल हिस्सा 26 फीसदी बुक हो गया। इस आईपीओ के जरिए कंपनी 3600 करोड़ रुपये जुटाएगी। कंपनी ने इस इश्यू का प्राइस बैंड 218-230 रुपये तय किया है। गौरतलब है कि यह साल का तीसरा आईपीओ होगा। 

अडाणी विल्मर का आईपीओ पूरी तरह से फ्रेश इक्विटी शेयर्स पर आधारित है और दूसरी तरह की कोई ऑफरिंग नहीं की जा रही है। लेटेस्ट ग्रे मार्केट प्रीमियम की बात करें तो यह फिलहाल 45 रुपये है। इस संबंध में जारी रिपोर्ट के मुताबिक, संभावना है कि आगामी 8 फरवरी को कंपनी के शेयर एनएसई और बीएसई पर लिस्ट होंगे। कंपनी इश्यू में से 107 करोड़ रुपये के शेयर कर्मचारियों के लिए जारी किए गए हैं। वहीं 360 करोड़ रुपये के शेयर कंपनी के शेयरहोल्डर्स के लिए जारी किए हैं।

अडानी विल्मर के कर्मचारियों को फाइनल इश्यू प्राइस से 21 रुपये कम भाव पर शेयर मिलेंगे। इसके अलावा अडाणी विल्मर के इश्यू का 50 फीसदी क्वालीफाइड इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टरों के लिए रिजर्व है। जबकि 15 फीसदी नॉन-इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टरों और 35 फीसदी रिटेल इनवेस्टर के लिए आरक्षित है। अडाणी विल्मर के इश्यू में निवेश करने वाले बड़े एंकर इनवेस्टरों में गवर्मेंट ऑफ सिंगापुर, मॉनेटरी अथॉरिटी ऑफ सिंगापुर, ज्यूपिटर इंडिया फंड, वोलराडो वेंचर पार्टनर्स फंड शामिल हैं। इनके अलावा एचडीएफसी म्यूचुअल फंड, निप्पॉन लाइफ इंडिया ट्रस्टी, आदित्य बिड़ला सनलाइफ ट्रस्टी और सनलाइफ एक्सल इंडिया फंड भी इसके एंकर निवेशक हैं। देश की सबसे बड़ी एफएमसीजी फूड कंपनियों में से एक अडाणी विल्मर ने 25 जनवरी को 15 एंकर निवेशकों से 939.9 करोड़ रुपये जुटाए हैं। कंपनी ने बंबई स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी में बताया है कि कंपनी ने एंकर निवेशकों को 4.08 करोड़ इक्विटी शेयर जारी किए हैं। कंपनी ने इश्यू के अपर प्राइस बैंड 230 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से शेयर जारी किया है।