जयपुर जिले में कोटपूतली के केरोड़ी गांव में तीन दिन पहले दलित दूल्हे की बारात पर हुए पथराव के बाद रविवार को उसी घर के दो दूल्हों की निकासी पुलिस के कड़े पहरे में निकाली गई। चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात रहे। जयपुर ग्रामीण एसपी मनीष अग्रवाल गांव में मौजूद रहकर मॉनिटरिंग करते रहे। किसी प्रकार की अनहोनी से निबटने के लिए गांव में 3 आरएसी के टुकड़ियां और 4 पुलिस थानों का जाब्ता तैनात रहा। 

आगे-आगे बाराती, पीछे-पीछे पुलिस जाब्ता, ऐसे निकली दलित दूल्हे की बारात

दरअसल, राजस्थान के अलवर जिले के बानसूर में दलित दूल्हे की बारात भारी पुलिस बल के बीच निकाली गई। आगे-आगे बाराती नाच रहे थे और उनके पीछे बंदूकधारी पुलिस के जवान चल रहे थे। बानसूर थाने के कार्यवाहक थानाधिकारी शिम्बू दयाल मीणा ने बताया कि हाल ही में 2 दिन पूर्व 26 नवंबर को जयपुर जिले के पावटा उपखंड क्षेत्र के ग्राम पंचायत कैरोड़ी में दलित दूल्हे और बारात पर समाज कंटकों द्वारा पथराव प्रकरण का मामला सामने आया था। अब उसी दुल्हन के दो दूल्हे भाई बानसूर शादी करने पहुंचे हैं। जहां पुलिस उपअधीक्षक सुभाष गोदारा, बानसूर कार्यवाहक थानाधिकारी शिम्बू दयाल, हरसोरा थाना अधिकारी ताराचंद शर्मा, क्यूआरटी टीम जवान और बंदूकधारी पुलिस की मौजूदगी में दूल्हे की बारात को लड़की के घर तक पहुंचाया गया।