उत्तर प्रदेश में यूपी पुलिस हमेशा से ही जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करती है. पिछली बार की तरह योगी सरकार के इस कार्यकाल के शुरू होने से पहले ही अपराधियों की शामत आई हुई है. इस वक्त अपराधियों के पास दो ही ऑप्शन हैं, या तो वो प्रदेश छोड़ दें या खुद ही आत्मसमर्पण कर लें. आज योगी आदित्यनाथ की ताजपोशी भी होनी है, ऐसे में योगी आदित्यनाथ की शपथ से कुछ समय पहले ही लखनऊ पुलिस ने एक लाख के इनामी बदमाश राहुल सिंह को ढेर कर दिया. राहुल सिंह अलीगंज ज्वैलर्स लूटकांड में वांछित चल रहा था.

खबर मिलते ही शुरू हुई कार्रवाई

जानकारी का मुताबिक गुरुवार रात बदमाश के अलीगंज में आने की सूचना मिली थी. जिसके आधार पर टीमें चेकिंग कर रहीं थीं. हसनगंज बंधा रोड के पास पहुंचने पर संदिग्ध व्यक्ति नजर आया था. यह मुठभेड़ लखनऊ के हसनगंज इलाके में सुबह करीब 4 बजे हुई. सुबह लखनऊ में पुलिस ने उसे घेरा तो वह गोलीबारी करने लगा. दोनों ओर से गोलीबारी में राहुल सिंह घायल हो गया. पुलिस ने बदमाश को अस्पताल में कराया गया भर्ती कराया गया है, जहां उसकी मौत हो गई.

इस मामले के बाद से था फरार

हसनगंज इंस्पेक्टर अशोक सोनकर ने बताया कि कपूरथला अलीगंज सेक्टर-बी में निखिल अग्रवाल की तिरुपति ज्वैलर्स के नाम से दुकान है. 8 दिसंबर 2021 की सुबह निखिल, कर्मचारी श्रवण कुमार और दो महिला कर्मचारी दुकान में मौजूद थे. उसी दौरान बदमाश धड़धड़ाते हुए दुकान में घुस गए थे. असलहों से लैस बदमाशों ने जेवर लूट लिए थे. भागते वक्त श्रवण ने एक बदमाश को दबोच लिया था. जिसने असलहे से श्रवण के पेट में गोली मार दी थी. जिससे कर्मचारी की मौत हो गई थी.

लूट को अंजाम देने वाले गिरोह में शामिल हनी सिंह और गुड़ंबा निवासी रवि कुमार वर्मा को पुलिस ने पहले ही गिरफ्तार कर लिया था. जिन्होंने भी राहुल के गोली चलाने की पुष्टि की थी. इस बीच पुलिस ने राहुल की तलाश के लिए शाहजहांपुर के अलावा अन्य जिलों में भी दबिश दी थी, लेकिन सफलता हाथ नहीं लगी.