भोपाल । प्रदेश में पिछले एक पखवाड़े से जारी सियासी संग्राम आज खत्म होने की ओर अग्रसर है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा दो दिन तक चली सुनवाई के बाद गुरुवार शाम को  मप्र विधानसभा में बहुमत परीक्षण करने का आदेश जारी करने के बाद से भाजपा खेमे में खुशी है। वहीं कांग्रेस में मासूसी छा गई है। हालांकि मुख्यमंत्री कमलनाथ और उनके मंत्री अभी तक बहुमत साबित करने का दावा कर रहे हैं, लेकिन कांग्रेस नेताओं के बयानों से यह स्पष्ट है कि अब सरकार उनके हाथ से निकल चुकी है।
सियासी संघर्ष के बीच भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने विधायकों को होटलों में ठहराया है। 16 मार्च को विधानसभा सत्र में शामिल होने के लिए कांग्रेस विधायक जयपुर और भाजपा विधयाक गुुरुगाम से भोपाल आए थे। इसके बाद से दोनों दलों के विधायक भोपाल में ही ठहरे हैं। भाजपा ने विधायकों को सीहोर के ग्रेसेस रिसॉर्ट में ठहराया है। जबकि कांग्रेस विधायक भोपाल में होटल कोर्टयार्ड मेरियट में ठहरे हैं। सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद भाजपा विधायकों के बीच मिष्ठान वितरण हुआ। एक-दूसरे ने बधाई दी। वहीं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक बार फिर विधायक दल की बैठक बुलाई।

सुबह विधायकों के बीच पहुंचे सभी नेता
 सीहोर के ग्रेसेस रिजॉर्ट में 5 दिन से ठहरे भाजपा खेमे में उत्साह है। सुबह से कुछ विधायकों ने जिम में पसीना बहाया तो कुछ ने योग किया। भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी यहां पहुंच गए। उन्होंने विधायकों के साथ फ्लोर टेस्ट की रणनीति पर चर्चा की। वे शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के साथ सदन में पास होने की रणनीति बना रहे हैं। ग्रेसेस रिजॉर्ट में सुबह से ही गहमागहमी है। 8: 30 बजे नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव यहां पहुंचे। उनसे एक घंटे पहले सुबह 7:30 बजे पूर्व मंत्री पारस जैन पहुंचे थे। उन्होंने कहा- आज दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। इससे पहले गुरुवार शाम को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शिवराज सीहोर के हनुमान मंदिर में गए। जबकि प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और गोपाल भार्गव ने गणेश मंदिर में दर्शन किए।

होटल और रिसॉर्ट की बढ़ाई सुरक्षा
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पुलिस ने विधायकों की सुरक्षा बढ़ा दी है। सीहोर के रिसॉर्ट के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। रिसॉर्ट को पूरी तरह से पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। बाहरी व्यक्तियों को रिसॉर्ट से दूर कर दिया है। वहीं इधर होटल कोर्टयार्ड मैरियट की भी सुरक्षा बढाई गई है। वहीं इधर भाजपा ने भी सीहोर से लेकर भोपाल तक के तमाम भाजपा कार्यकर्ताओं को सक्रिय कर दिया गया है। कई कार्यकर्ता गाडिय़ों से ग्रेसेस रिसॉर्ट पहुंच रहे हैं। विधायकों का काफिला किसी भी समय यहां से रवाना हो सकता है।

शिवराज ने मांगी सुरक्षा
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने देर रात पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर सीहोर से रिसॉर्ट में ठहरे भाजपा विधायकों की सुरक्षा की मांग की है। शिवराज ने डीजीपी को लिखे पत्र में कहा कि शुक्रवार को विधानसभा में बहुमत परीक्षण होना है। ऐेसे में विधायकों को कड़ी सुरक्षा के बीच विधानसभा तक ले जाने की व्यवस्था की जाए। इसके बाद से पुलिस ने सुरक्षा की कमान संभाल रही है। आज सुबह से ही रिसॉर्ट के बाहर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है।

आधी रात को विधानसभा पहुंंचे नेता प्रतिपक्ष
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद विधानसभा सचिवालय ने आधी रात तक कार्यसूची जारी नहीं की थी। जिसको लेकर नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव आधी रात को ही विधानसभा  पहुुंच गए। उन्होंने स्पीकर और प्रमुख सचिव विधानसभा के कक्ष में सुप्रीम कोर्ट के आदेश की प्रति रखी। साथ ही आदेश परिपालन में कार्यसूची जारी करने की मांग की। इसके बाद करीब डेढ़ बजे विधानसभा सचिवालय ने दैनिक कार्यसूची जारी की गई। जिसके अनुसार शुक्रवार दोपहर 2 बजे से सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसान बहुमत परीक्षण की कार्यवाही पूरी होना है।