चीन में कोरोना (COVID-19) का कहर जारी है. कोरोना से चीन में 2600 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. चीन के 31 प्रांतों में कोरोना का संक्रमण फैल चुका है. इनमें हुबेई का वुहान शहर सबसे ज्यादा प्रभावित है. वहां अब भी कई भारतीय फंसे हुए हैं. आज बुधवार को भारत वायु सेना का एक स्पेशल विमान भेजकर वुहान में फंसे भारतीयों को वापस देश लाएगा. साथ ही इस विमान के जरिए चीन में कोरोना संक्रमित लोगों के लिए मेडिकल राहत सामग्री भी भेजी जाएगी.
चीन में कोरोना से 77 हजार से ज्यादा लोग संक्रमितवायु सेना का C-17 ग्लोबमास्टर विमान जाएगा वुहानकई दिनों बाद चीन ने दी एयरलिफ्ट करने की इजाजत
कोरोना वायरस से चीन में मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. चीन में करोना से अब तक 2663 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 77 हजार से ज्यादा लोग अब भी संक्रमित हैं. इस बीच चीन के वुहान शहर में फंसे भारतीयों को लाने के लिए आज वायु सेना का स्पेशल विमान C-17 ग्लोबमास्टर वुहान जाएगा. समाचार एजेंसी पीटीआई ने भारतीय एंबेसी के हवाले से बताया है कि वुहान में जिन भारतीयों ने जाने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाया है, उन्हें भारत लाया जाएगा.

कई दिनों तक चीन से नहीं मिली इजाजत

चीन के वुहान में अब भी करीब 100 भारतीय फंसे हुए हैं. भारत पड़ोसी देशों के फंसे भारतीयों को भी लाने की इच्छा जताई है. एंबेसी के अधिकारियों ने मंगलवार को बताया कि स्पेशल विमान बुधवार को वुहान लैंड करेगा, इसके लिए इजाजत मिल चुकी है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली हिंसा पर हाई कोर्ट में आधी रात में सुनवाई, पुलिस से स्टेटस रिपोर्ट तलब

इससे पहले भारतीय अधिकारियों ने कहा था कि विमान को वुहान जाने की चीन की ओर से इजाजत नहीं मिल रही है. वुहान भेजे जाने वाले स्पेशल विमान से चीन में कोरोना से संक्रमित लोगों के लिए मेडिकल दस्ताने, मेडिकल गाउन जैसी राहत सामग्री भी भेजी जाएगी.

वुहान में फंसे जिन भारतीयों ने भारत आने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है, उन्हें कहा गया है कि वह बुधवार को स्पेशल विमान से आने के लिए तैयार रहें. बता दें कि पिछले कुछ दिनों में वुहान से कुछ भारतीयों ने वापस आने की गुहार लगाई थी. उनका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ था. चीन का वुहान प्रांत कोरोना वायरस का केंद्र बना हुआ है और कोरोना की शुरुआत यहीं से हुई थी. जो अब दुनिया के कई देशों में फैल चुका है.

647 भारतीयों को पहले किया जा चुका है एयरलिफ्ट

गौरतलब है कि भारत पहले ही 1 और 2 फरवरी को एयर इंडिया के दो विशेष विमान से वुहान में फंसे 647 भारतीयों को वापस ला चुका है. भारत पहुंचने के बाद उनमें से कुछ भारतीयों को कई दिनों तक अलग सैन्य अस्पताल में निगरानी के लिए रखा गया था. बाद में इलाज के बाद सभी लोगों को सैन्य अस्पताल से छुट्टी दे दी गई थी.

ये भी पढ़ें: बालाकोट एयरस्ट्राइक: देखें, एक साल बाद पाकिस्तान ने कुछ ऐसे बदल दिया कैम्प

भारत ने अपने नागरिकों के अलावा 7 मालदीव के नागरिकों को भी अपने विमान से भारत लाया था. उन्हें भी अस्पताल में निगरानी में रखने के बाद मालदीव भेज दिया गया था.