उत्तर प्रदेश के अयोध्या (Ayodhya) जनपद के रुदौली क्षेत्र में एक किशोर के साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म करने के आरोपी मौलवी हाजी साकिब को पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है। मौलवी हाजी साकिब पर अप्राकृतिक दुष्कर्म करने का यह तीसरा मामला दर्ज हुआ है। मौलवी पहले से ही अप्राकृतिक दुष्कर्म के 2 मामले का आरोपी है।

किशोर ने पुलिस को बताया कि फेसबुक के जरिए रुदौली के परसोली गांव के रहने वाले मौलवी हाजी साहब से उसकी जान-पहचान हुई। इसके बाद फेसबुक पर ही शेरो-शायरी का दौर चला और फिर जान-पहचान बढ़ने पर मौलवी ने उसे मुशायरे में शामिल कराने का लालच दिया और रुदौली स्थित अपने घर पर बुला लिया।

किशोर ने बतया कि इसके बाद घर में ही नशीला इंजेक्शन देकर 2 दिन तक मौलवी हाजी साकिब उसके साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म करता रहा। सूत्रों ने बताया कि पीड़ित ने मामले की लिखित शिकायत रुदौली कोतवाली में दी है, जिसके आधार पर पुलिस ने आरोपी मौलवी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

मामले में सीओ रुदौली धर्मेंद्र कुमार यादव ने बताया कि पीड़ित की तहरीर पर आरोपी मौलवी हाजी साकिब के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। सीओ ने बताया कि मौलवी पहले भी मदरसे के छात्र के साथ इसी तरह के संगीन आरोप में जेल जा चुका और उसका इसी तरह का इतिहास रहा है।

सूत्रों का कहना है कि हाजी मौलवी साकिब रुदौली क्षेत्र के ही एक मदरसे में पढ़ाता था, जहां पर कई बच्चों के साथ उसने अप्राकृतिक दुष्कर्म किया, जिसकी वजह से वह 2 बार जेल भी जा चुका है।