नई दिल्ली। चक्रवात निसर्ग महाराष्ट्र तट से टकरा गया है। लैंडफॉल की प्रक्रिया अगले तीन घंटे में पूरी होगी। मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी है। इस दौरान हवा की गति 100 से 120 किलोमीटर प्रतिघंटा होगी।चक्रवात अगले तीन घंटों के दौरान धीरे-धीरे मुंबई और ठाणे जिले में प्रवेश करेगा। सबसे ज्यादा इसका असर मुंबई, ठाणे और रायगढ़ में देखने को मिलेगा। इसी बीच चक्रवात निसर्ग के मद्देनजर गोवा के मिरामार बीच पर तेज हवाओं और ज्वार ने दस्तक दे दी है। एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान के अनुसार दोनों राज्यों में एनडीआरएफ की करीब 43 टीमें तैनात की गई हैं। चक्रवात के रास्ते से करीब 1 लाख लोगों को सु​रक्षित बाहर निकाला गया है। हम एक साथ दो खतरों से निपट रहे हैं, महाराष्ट्र खासतौर पर कोरोना वायरस (COVID-19) का हॉटस्पॉट है। एनडीआरएफ के महानिदेशक एसएन प्रधान के अनुसार दोनों राज्यों में एनडीआरएफ की करीब 43 टीमें तैनात की गई हैं। चक्रवात के रास्ते से करीब 1 लाख लोगों को सु​रक्षित बाहर निकाला गया है। हम एक साथ दो खतरों से निपट रहे हैं, महाराष्ट्र खासतौर पर कोरोना वायरस (COVID-19) का हॉटस्पॉट है।

मुंबई से 200 किलोमीटर की दूरी पर
इससे पहले विभाग ने जानकारी दी थी कि निसर्ग तूफान मुंबई से 200 किलोमीटर की दूरी पर है। पणजी शहर के कुछ हिस्सों में तेज हवा के साथ बारिश शुरू हो गई है। मौसम विभाग ने गोवा के लिए अधिकांश इलाकों में आज हल्की से मध्यम बारिश की भविष्यवाणी की है।

गोवा बीच पर ज्वार ने दस्तक दी
चक्रवात निसर्ग के मद्देनजर गोवा में मिरामार बीच पर तेज हवाओं और ज्वार ने दस्तक दे दी है। समाचार एजेंसी एएनआइ ने इसका वीडियो जारी किया है।

पिछले 6 घंटों के दौरान 13 किमी प्रति घंटे की गति के साथ आगे बढ़ा
मौसम विभाग की ताजा भविष्यवाणी के मुताबिक निसर्ग पिछले 6 घंटों के दौरान 13 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तरी महाराष्ट्र तट की ओर बढ़ा। यह अलीबाग से 155 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम और मुंबई से 200 किमी दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रित है। 

दमन में  एनडीआरएफ की टीम ने राहत और बचाव कार्य शुरू किया
दमन में चक्रवात 'निसर्ग' के मद्देनजर लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम जारी है। एनडीआरएफ की टीम ने राहत और बचाव कार्य शुरू कर दिया है।