नई दिल्ली । मिशन रफ्तार के तहत जल्द ही दिल्ली-सहारनपुर रेल सेक्शन पर और अधिक इलेक्ट्रिक मल्टिपल यूनिट (ईएमयू) ट्रेन चलेगी। दो महीने बाद इलेक्ट्रिक ट्रैक पर अधिक कोच वाली ट्रेन पूरी रफ्तार से चलेगी। इतना ही नहीं सहारनपुर-मेरठ सिटी-गाजियाबाद सेक्शन पर होने वाली भीड़ भी अब कम होगी। दरअसल इस सेक्शन में रेलवे अक्तूबर महीने में विद्युतीकरण के काम को पूरा करने का लक्ष्य रखा है। जिससे ज्यादा संख्या में ईएमयू चलेगी व दैनिक यात्रियों के आवागमन में तीव्रता मिलेगी।दिल्ली रेल मंडल का ब्राडग्रेज रेल लाइन पूरे तरह से अक्तूबर तक विद्युतिकृत हो जाएगा। 142 किलोमीटर लंबे नोली-शामली-टपरी सैक्शन के बचे हुए लंबित प्रोजेक्ट को एक मिशन की तरह पूरा करने का काम किया जा रहा है। 2016-2017 में 159.24 करोड़ रु की लागत वाले इस प्रोजेक्ट को 2 महीने बाद पूरा करने का लक्ष्य रखा है। 2 महीने बाद दिल्ली-सहारनपुर रेल सेक्शन तेज रफ्तार चलेगी ट्रेन चलेगी तो  दिल्ली रेल मंडल शत-प्रतिशत डीजल मुक्त हो जाएगा। दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में वायु प्रदूषण में कमी आएगी।
- 5 स्टेशन के रूके प्रोजेक्ट का काम होगा पूरा
खेकड़ा, बागपत रोड, बड़ौत, कासिमपुर खेड़ी, कांधला और शामली स्टेशनों वाले नोली-शामली सेक्शन गति परीक्षन के बाद परिचालन शुरू किया गया है। हिन्द, थानाभवन, ननौता, रामपुर मनिहारन, मनानी समेत पांच प्रमुख स्टेशनों वाले शामली-टपरी सेक्शन के विद्युतिकरन का काम अकतूबर तक पूरा किया जाएगा।