राजनांदगांव. छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के राजनांदगांव (Rajnandgaon) जिले में आयोजित एक स्थानीय कार्यक्रम में शामिल होने पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह (Former CM Dr. Raman Singh) पहुंचे. चर्चा के दौरान रमन सिंह ने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. आईटी रेड (IT Raid) पर विपक्ष के आरोपों का जवाब देते हुए रमन सिंह ने कहा कि आईटी के छापे से प्रदेश की कांग्रेस (Congress) सरकार इतनी क्यों छटपटा रही है. यह मेरी बात समझ में नहीं आ रहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पास 69 विधायक हैं. चार-पांच अधिकारियों के घर छापे से ऐसी घबराहट क्यों और किसके लिए है. प्रदेश से लेकर दिल्ली (Delhi) तक हिल गई है. रमन सिंह ने कहा कि आईटी के छापे से सरकार अस्थिर हो जाए तो आईटी विभाग विभाग को बंद करना पड़ जाएगा. भारत में कोई भी सरकार काम नहीं कर पाएगी. उन्होंने कहा कि आईटी का छापा किसी को बता कर नहीं पड़ता है. ये पूरी बाते स्वदेशी मेले के समापन कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कही है.

जल्द हो सकता है खुलासा

आयकर विभाग द्वारा सरकार के करीबी मानें जाने वाले विवेक ढांढ, अनील टुटेजा, ऐजाज ढेबर, गूरूचरण सिंह होरा सहित अन्य के ठिकानों पर गुरूवार से चार दिनों तक मारे गए छापे के बाद पूर्व सीएस विवेक ढांड और कारोबारी कमलेश जैन को पीओ दिया गया है. उनके ठिकानों पर जब्त दस्तावेजों को आलमारी में सील कर उन्हें प्रतिबंधात्मक आदेश के तहत नोटिस लगा दिया गया है.

अब विभाग की मौजूदगी में ही  इसे खोला जाएगा. इनके अलावा जिन ठिकानों से आयकर विभाग को दस्तावेज मिले है उन दस्तावेजों की स्क्रूटनी आज से शुरू होगी. जिन दस्तावेजों को दिल्ली ले जाया गया है उनकी स्क्रूटनी दिल्ली में और जिन्हें यहां सील किया गया उनकी स्क्रूटनी आयकर विभाग के अधिकारियों की मौजूदगी में रायपुर में की जाएगी. माना जा रहा है कि दस्तावेजों के स्क्रूटनी के बाद ही आगे कार्रवाई की दिशा तय होगी.