जर्मनी की राजनीतिज्ञ और भूतपूर्व शोध वैज्ञानिक हैं जो २००५ से जर्मनी की चांसलर हैं। मर्केल वर्ष २००० से क्रिस्टियन डेमोक्रेटिक यूनियन (जर्मनी) का नेतृत्व कर रही हैं। वे जर्मनी की पहली महिला हैं जो इनमें से किसी भी पद का दायित्व संभाल रही हैं।

फोर्ब्स द्वारा विश्व के सबसे प्रभावशाली लोगों की वर्ष २०१४ की सूची में मर्केल को महिलाओं में प्रथम स्थान प्राप्त हुआ और २०१३ की संयुक्त सूची में पाँचवाँ स्थान प्राप्त हुआ है। २०१२ की जारी संयुक्त सूची में उन्हें दूसरा स्थान मिला था।

आरंभिक जीवन

बर्लिन मूल के पिता हॉर्स्ट कैस्नर और पोलिश मूल की माता हर्लिण्ड की संतान के रूप में मर्केल का जन्म हुआ। बचपन में उनका नाम एंजेला डोरोथी कैज़्नर रखा गया। मर्केल की माँ जर्मनी की सोशल डेमोक्रैटिक पार्टी की सदस्या रह चुकी थीं। मर्केल की कुछ विरासत पोलैण्ड से भी जुड़ी हुई है क्योंकि उनके पितृ पितामह, लुडविग कैज़मीर्जाक़, पोलिश मूल के जर्मन थे।

राजनीतिक जीवन

प्राथमिक तौर पर एक भौतिक रसायनज्ञ के रूप में प्रशिक्षित मर्केल ने १९८९ की क्रांति के प्रभाव स्वरूप, पूर्वी जर्मन सरकार की उप-प्रवक्ता के रूप में संक्षिप्त सेवा कर, राजनीति में प्रवेश किया।

14 मार्च 2014 को वह चौथी बार जर्मनी की चांसलर बनीं।