उत्तर प्रदेश में यूपी पुलिस हमेशा से ही जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम करती है. पिछली बार की तरह योगी सरकार के इस कार्यकाल के शुरू होने से पहले ही अपराधियों की शामत आई हुई है. इस वक्त अपराधियों के पास दो ही ऑप्शन हैं, या तो वो प्रदेश छोड़ दें या खुद ही आत्मसमर्पण कर लें. ऐसे में अब फिरोजाबाद के थाना सिरसागंज में बुधवार दोपहर को हत्या के मामले में वांछित आरोपी हाथों में तख्ती थामकर आत्मसमर्पण करने पहुंचा. तख्ती पर लिखा था, ‘मैं आत्मसमर्पण कर रहा हूं, पुलिस मुझे गोली न मारे. जिसके बाद पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर थाने भेज दिया.

हत्या के आरोपी ने किया सरेंडर

जानकारी के मुताबिक योगी सरकार के नए कार्यकाल की शुरूआत से पहले ही बदमाशों ने सरेंडर करना शुरू कर दिया है. योगी आदित्यनाथ के शपथ लेने से पहले ही बदमाश खुद जेल जाना चाह रहे हैं. इसी क्रम में फिराजाबाद में भी SSP आशीष तिवारी अपराधियों की शामत लाए हुए हैं. जिसका नतीजा है कि बुधवार को सिरसागंज थाने में एक हत्या का आरोपी सरेंडर करने पहुंचा.

कई धाराओं में दर्ज है केस

आरोपी का नाम आरोपी हिमांशु उर्फ हनी थाना क्षेत्र के सीएल वाटिका कस्बा अरांव का रहने वाला है. इस पर धारा 147, 148, 302, 504, 506, एससी-एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज है. हिमांशु आज गले में तख्ती डालकर थाने पहुंचा. तख्ती पर लिखा था, ‘मैं आत्मसमर्पण कर रहा हूं, मुझे पुलिस गोली न मारे’ आरोपी को थाने में देखकर पुलिस अलर्ट हो गई, लेकिन उसने अपने हाथ खड़े कर दिए. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.

रिपोर्ट - संतोष मिश्र