इजराइल और गाजा के बीच तनाव जारी है. इजराइल ने गाजा में हवाई हमले कर कई मकानों को नष्ट कर दिया और फलस्तीनी उग्रवादियों ने लगातार दूसरे दिन दक्षिणी इजराइल में रॉकेट दागे. इससे क्षेत्र में फिर से संघर्ष पैदा होने की आशंका बढ़ गई है. इस दौरान उग्रवादी ग्रुप का एक और कंमाडर मारा गया.

इस लड़ाई में कम से कम 32 फिलिस्तीनियों की मौत हो गई है, जिनमें 6 बच्चे भी शामिल हैं. इजराइल ने वेस्ट बैंक में इस्लामिक जिहाद समूह के 20 सदस्यों को गिरफ्तार भी किया है. लंबे समय के बाद इजराइल और फिलिस्तीनी आतंकवादियों के बीच भड़की इस सबसे खराब हिंसा में सैकड़ों रॉकेट दागे गए हैं.

न्यूज एजेंसी एएफपी की एक खबर के मुताबिक फिलिस्तीन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने रविवार को कहा कि गाजा में हिंसा से मरने वालों की संख्या बढ़कर 32 हो गई है, जिसमें छह बच्चे भी शामिल हैं. मंत्रालय ने कहा कि ताजा हमलों में 250 से ज्यादा लोग घायल भी हुए हैं. जबकि इजराइल के अधिकारियों ने कहा कि बच्चों की मौत शनिवार को गाजा में आतंकवादियों द्वारा इजरायल की ओर दागे गए रॉकेट से हुई थी.जबकि इस्लामिक जिहाद का कहना है कि उसने यरुशलम पर रॉकेट दागे हैं. इजराइल ने इस्लामिक जिहाद को खत्म करने के लिए शुक्रवार को एक गाजा पट्टी पर हवाई हमला शुरू किया था. जो तीसरे दिन भी जारी है.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि पश्चिमी यरुशलम में रॉकेट सायरन की आवाज और विस्फोटों की आवाज सुनाई दी. जो संभवत: फिलिस्तीनी रॉकेट हमलों और इजराइल के एयर डिफेंस का संकेत है. गौरतलब है कि गाजा पर किए गए ताजा हमले के बाद इजराइल ने शुक्रवार को कहा था कि इस्लामिक जिहाद का टॉप कमांडर तासीर जबारी उत्तरी गाजा पर हुए एक हवाई हमले में मारा गया है. जबकि इस्लामिक जिहाद के दूसरे टॉप कमांडर खालिद मंसूर की मौत की पुष्टि अल कुद्स ब्रिगेड ने रविवार को की. खबरों के मुताबिक दक्षिणी गाजा के रफाह शहर में शनिवार रात को हुए हवाई हमले में मंसूर की मौत हुई.

अब तक 32 लोगों की हुई मौत

गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि तटीय पट्टी क्षेत्र में छह बच्चों समेत अभी तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है. इजराइल द्वारा फलस्तीनी उग्रवादी समूह इस्लामिक जिहाद के एक वरिष्ठ कमांडर को शुक्रवार को मार गिराए जाने के बाद यह लड़ाई शुरू हुई. बहरहाल, गाजा पर शासन करने वाला उग्रवादी समूह हमास अभी इस संघर्ष से किनारा करते दिखाई दे रहा है.

दो आतंकी कंमाडर मार गिराए

बता दें कि इससे एक दिन पहले इजराइल ने ईरान समर्थित समूह के उत्तरी गाजा क्षेत्र के एक कमांडर को हवाई हमले में मार गिराया था. इस हवाई हमले से 2021 में 11 दिन तक चले युद्ध के बाद इजराइल और फलस्तीनी उग्रवादियों के बीच फिर से सीमा पार संघर्ष शुरू गया है. ‘अल कायदा ब्रिगेड्स ऑफ इस्लामिक जिहाद’ ने रविवार को पुष्टि की कि दक्षिणी गाजा के रफाह शहर में हवाई हमले में कमांडर खालिद मंसूर तथा उसके दो साथी मारे गए. उसने बताया कि एक बच्चे तथा तीन महिलाओं समेत पांच अन्य नागरिक भी हवाई हमले में मारे गए तथा रफाह में कई मकान नष्ट हो गए.

गाजा के जबालिया शहर में गिरा इजराइली रॉकेट

वहीं इजराइली सेना ने कहा कि शनिवार देर रात फलस्तीनी आतंकवादियों द्वारा दागा गया रॉकेट उत्तरी गाजा के जबालिया शहर में ही गिर गया, जिससे बच्चों समेत कई लोगों की मौत हो गई. सेना ने कहा कि उसने घटना की जांच की और बिना किसी शक के यह निष्कर्ष निकाला कि इस्लामिक जिहाद का निशाना चूकने की वजह से रॉकेट गाजा के शहर में गिरा. अभी फलस्तीन ने इस घटना पर कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की है. फलस्तीन के एक चिकित्सा कर्मी ने नाम न उजागर करने की शर्त पर बताया कि धमाके में तीन बच्चों समेत कम से कम छह लोगों की मौत हो गई.

गाजा की कई रिहायशी इमारतें नष्ट

इससे पहले शनिवार को इजराइल के युद्धक विमानों ने गाजा सिटी में चार रिहायशी इमारतों को नष्ट कर दिया. ये सभी इमारतें इस्लामिक जिहाद से संबद्ध बताई जाती हैं. अभी हताहतों के बारे में कोई जानकारी नहीं है. प्रत्येक हमले से पहले इजराइली सेना ने नागरिकों को आगाह किया था. शनिवार को ही एक कार पर हुए हमले में 75 वर्षीय एक महिला की मौत हो गई और छह अन्य लोग घायल हो गए.

करीब 15 आंतकियों की मौत

इजराइली सेना ने शुक्रवार को कहा कि उसका अनुमान है कि हमलों में करीब 15 आतंकवादी मारे गए हैं. इजराइल द्वारा गाजा में मंगलवार के बाद से सभी सीमा चौकियों को बंद किए जाने के कारण शनिवार दोपहर से गाजा के इकलौते बिजली संयंत्र ने ईंधन की कमी की वजह से काम करना बंद कर दिया. इससे गाजा के निवासियों को एक दिन में महज चार घंटे ही बिजली मिल पाएगी.