आपने अक्सर इस तरह की खबरों को पढ़ा होगा जहां पुलिसकर्मियों ने लोगों की मदद की हो. जो पुलिस विभाग अंजान की मदद को जी जान लगा देता है, तो सोचिए जब बात उसी विभाग के कर्मचारी की होगी तब ये क्या करेंगे. मामला लखनऊ का है, जहां एक बार फिर लखनऊ पुलिस ने अपने विभाग के मृत इंस्पेक्टर के परिवार की आर्थिक मदद को एक एक दिन का वेतन जमा किया है. आज लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने पुलिसकर्मियों द्वारा जमा धनराशि मृत इंस्पेक्टर की पत्नी को सौंप दी. लखनऊ पुलिस ने जब इसकी फोटो शेयर की तो लोग पुलिस विभाग के इस कदम की सराहना करने लगे.

पुलिस कमिश्नर ने की थी पहल की शुरुआत

जानकारी के मुताबिक इंस्पेक्टर संजय कुमार के निधन के बाद लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट में तैनात अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपने एक दिन का वेतन अपनी स्वेच्छा से देकर परिवार की आर्थिक मदद करने का फैसला किया था. जिसके बाद सोमवार को लखनऊ पुलिस कमिश्नर ने इंस्पेक्टर संजय कुमार सिंह की पत्नी और उनकी तीन बेटियां मिलने पहुंचीं. इस दौरान लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने इंस्पेक्टर की पत्नी को चेक सौंप कर परिवार की आर्थिक मदद करने में सहयोग किया. लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट की इस पहल की सोशल मीडिया पर जमकर सराहना हो रही है.

ऐसे हुए थे हादसे के शिकार

गौरतलब है कि लखनऊ में तैनात 2001 बैच के इंस्पेक्टर संजय कुमार कुछ दिन पहले ऑन ड्यूटी गश्त पर थे, तभी भिठौली क्रासिंग के पास एक तेज रफ्तार ट्रक ने उनकी कार में टक्कर मार दी. इस एक्सीडेंट में गंभीर हालत में उन्हें केजीएमयू ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. संजय कुमार थाने के उद्घाटन की तैयारियों में लगे हुए थे. डॉ संजय परिवार के साथ आशियाना की एल्डिको कॉलोनी में रहते थे और वह मूल रूप से बिहार के औरंगाबाद जिले के हसनपुर के रहने वाले हैं. उनके परिवार में पत्नी और तीन बेटियां हैं.