भोपाल में 8 साल के मासूम बच्चे के साथ कुकर्म के बाद पानी की टंकी में डुबाकर की गई थी हत्या
 

तस्वीर गुनगा थाना की है।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कुकर्म और हत्या की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने ढाई माह बाद अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया

राजधानी भोपाल के गुनगा इलाके में ढाई माह पहले एक बंद पड़े क्रेशर के पास आठ साल के मासूम बच्चे का शव पानी की टंकी में मिला था। हादसे से दो दिन पहले बच्चा रहस्यमय ढंग से लापता हो गया था। अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि नाबालिग बच्चे के साथ किसी ने कुकर्म करने के बाद उसे पानी से भरी टंकी में फेंक दिया था। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात आरोपी के खिलाफ कुकर्म, हत्या की धाराओं के साथ ही पोक्सो एक्ट में केस दर्ज किया है।

गुनगा थाना प्रभारी सुनील सिंह भदौरिया के मुताबिक, छिंदवाड़ा निवासी सुखराज उर्फ सुखलाल आदिवासी रतुआ में क्रेशर खदान के पास परिवार के साथ रहता है। 13 सितंबर को सुबह सुखराज की पत्नी मजदूरी करने क्रेशर खदान पर गई थी। मां के साथ बेटा दानू (8) भी गया था। दोपहर में दानू मां से शौच के लिए जाने का कहकर घर से निकल गया था। उसके बाद उसका कुछ पता नहीं नहीं चला। न तो वह मां के पास वापस आया और न ही घर पहुंचा। परिजनों ने उसे आसपास तलाशा, लेकिन वह कहीं नहीं मिला।

पानी की टंकी में मिला था शव

15 सितंबर को असलम खान की जमीन पर बंद पड़े क्रेशर प्लांट के पास बनी पानी की टंकी में लोगों ने दानू का शव पड़ा देख पुलिस को सूचना दी थी। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपकर मामले की जांच शुरू कर दी थी।

टीआई भदौरिया ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि दानू के साथ किसी ने कुकर्म किया था। साथ ही अपराध छिपाने की नीयत से उसे बेरहमी से टंकी में पानी में डुबाकर मार डाला था। इस आधार पर मंगलवार रात को अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ धारा-302, 201, 377 और 5, 6 पोक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। भदौरिया के मुताबिक इस मामले में पुलिस को अहम सुराग मिल गए हैं।