बड़नगर । दुष्कर्म के मामले में 6 महीने से ज्यादा समय से फरार उज्जैन के बड़नगर से कांग्रेस विधायक मुरली मोरवाल के बेटे करण को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उज्जैन के मक्सी के पास से मंगलवार सुबह उसको गिरफ्तार किया है। पुलिस उसे कोर्ट में पेश करेगी। करण पर 23 वर्षीय युवती ने 2 अप्रैल 2021 को दुष्कर्म का केस दर्ज कराया था। युवती के मुताबिक करण ने कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर पिलाया था। उसके बाद रेप किया था। गिरफ्तारी में देरी होने पर छह दिन पहले गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने अल्टीमेटम दिया था। उन्होंने कहा था कि दो दिन में हाजिर हो जाएं नहीं तो ऐसी कार्रवाई करेंगे कि मध्यप्रदेश में यह नजीर बन जाएगा। गृहमंत्री के आदेश के बाद इंदौर आईजी ने इनाम की राशि 15 हजार से बढ़ाकर 25 हजार रुपए कर दी थी। कुछ दिन पहले ही इंदौर पुलिस ने करण के भाई शिवम को पुलिस पूछताछ के लिए इंदौर लेकर आई थी, लेकिन पुलिस को कोई ठोस जानकारी नहीं मिली।

गिरफ्तारी पर गृहमंत्री ने कहा

गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस विधायक के बेटे की गिरफ्तारी को लेकर कहा कि मैंने दीवाली से पहले गिरफ्तारी की बात कही थी। कल से लगातार दो से तीन स्थानों पर दबिश दी। आखिर में करण मोरवाल को मक्सी के पास से गिरफ्तार किया गया। उस पर 25 हजार रुपए का इनाम था। गिरफ्तारी होनी थी, वह हो गई। इस मामले में एक विषय सामने आया है। पीड़ित बेटी से पिछले 6 महीने में एक भी कांग्रेस नेता ने बात करने की कोशिश नहीं की। ये लोग हैं, जो उत्तरप्रदेश में बेटी हैं, लड़ेंगे। नारियों के हक की बात करते हैं। मध्यप्रदेश में प्रियंका गांधी के नेता कमलनाथ जी और दिग्विजय जी, तन्खा जी से उनको बचाने की बात करते हैं। यह आश्चर्य की बात है कि पीड़िता कांग्रेस की ही बेटी थी। एक भी कांग्रेस नेता ने उससे बात नहीं की। इससे कांग्रेस की दोहरी मानसिकता उजागर होती है। मुझे लगता है कि इनको अब इन विषयों पर बोलने का अधिकार नहीं है।