नरसिंहपुर. आज नर्मदा जयंती (Narmada Jayanti) है और इसको प्रदूषण से मुक्त रखने के लिए नरसिंहपुर के कैदियों ने अनूठी मुहिम चलाई रखी है. प्रदेश की जीवन दायिनी नर्मदा के संवर्धन व संरक्षण के लिए नरसिंहपुर (Narsinghpur) के केंद्रीय जेल (Central Jail) के कैदी इन दिनों इको फ्रेंडली दीपक बना रहे हैं, जिससे नर्मदा को दीपदान से होने वाली गंदगी से ना सिर्फ बचाया जा सके बल्कि इससे जलीय जीवों को भोजन भी मिल सकेगा. पर्यावरण को सुरक्षित रखकर पिछले करीब छह माह से जेल की गौशाला के गोबर से ये कैदी दीपक बनाकर ज्योत से ज्योत जलाकर खुद अंधेरे में रहकर दुनिया को रोशन करने का पैगाम दे रहे हैं.

जलीय जीवों को मिल रहा भोजन

ये कैदी यहां गोबर, अनाज और मिट्टी से हैंड मशीन के जरिये रोजाना सैकड़ों दीपकों को आकार दे रहे हैं. कैदियों के बने ये दीपकों की बाजार में खासी मांग भी है. इसकी कीमत भी महज दो रुपये रखी गई है. इस दीपक में मिलाई गई सामग्री शुद्ध होने के साथ साथ ईको फ्रेंडली भी है, जो पर्यावरण के लिए तो अहम है. यही नहीं, यह दीपदान के जरिये नदी तालाबों को भी साफ रखने में मददगार होने के साथ जलीय जीवों के लिए आहार भी दे सकेंगे. इस नर्मदा जयंती इनका बेहद खास संदेश है.