भोपाल. आज जब बदलते वक़्त के साथ लोग लड़का और लड़की में फर्क करना भूल रहे हैं, तब भी कुछ ऐसी घटनाएं सामने आ जाती हैं जो इंसानियत को शर्मसार कर देती हैं. एक ऐसी ही घटना सामने आई है. भोपाल स्थित राज्यस्तरीय पुलिस कंट्रोल रूम डायल-100 (Dial 100) को छिंदवाड़ा जिला के थाना तामिया क्षेत्र के सूथिया गांव में झाड़ियों में एक नवजात बच्ची पड़ी होने की सूचना मिली. इसके बाद तत्काल तामिया थाना और पुलिस कन्ट्रोल रूम छिंदवाड़ा को सूचित करते हुए डायल 100 वाहन को मौके पर भेजा गया. कोई अज्ञात व्यक्ति बच्ची (Infant Girl Child) को वहां छोड़ कर चला गया था. मौके पर पहुंचकर पुलिस को बच्ची जीवित मिली.

पूरे शरीर पर थीं चीटियां
स्थानीय लोगों ने नवजात बच्ची के रोने की आवाज सुनकर डायल 100 पर कॉल कर सूचना दी थी. मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि एक नवजात बच्ची झाड़ियों के अंदर रो रही है. झाड़ियों से जब नवजात को बाहर निकाला तो देखा कि बच्ची के पूरे शरीर मे चीटियां लगी हुई थीं. चीटियों के काटने की वजह से बच्ची बिलख-बिलख कर रो रही थी. ऐसी हालत में बच्ची को इलाज के लिए डायल-100 वाहन से ले जाकर शासकीय अस्पताल तामिया में भर्ती कराया गया, जहाँ से उसे जिला अस्पताल रेफर किया गया है.

पुलिस ने अज्ञात पर दर्ज की एफआईआर
पुलिस ने नवजात बच्ची को फेंकने वाले अज्ञात व्यक्ति पर एफ आई आर दर्ज की है. पुलिस पता लगा रही है कि इलाके में किसके घर पर हाल ही में डिलीवरी हुई है. पुलिस का अंदाजा है कि लड़की होने की वजह से आरोपियों ने उसे मरने के लिए झाड़ियों में फेंक दिया होगा. पुलिस ने सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों के साथ तमाम सार्वजनिक स्थानों से जानकारी जुटाना शुरू कर दिया है. इसके अलावा इलाके में सक्रिय मजदूरों से भी जानकारी ली जा रही है कि कुछ समय पहले या कुछ दिनों पहले इलाके में किन-किन के घर डिलीवरी हुई है.