यूपी में आने वाले पर्यटकों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है। इसी के चलते सीएम योगी ने ये निर्देश दिए थे कि पुलिसकर्मियों को विदेशी भाषाओं का ज्ञान दिया जाए। इसी के चलते यूपी 112 ने अपने कर्मचारियों को 18 भाषाओं की ट्रेनिंग देने की शुरुआत कर दी है। ये पुलिसकर्मी उस समय पर्यटकों की मदद करेंगे जब उन्हें किसी तरह की दिक्कत होगी।

18 भाषाओं में उपलब्ध होगी सेवा

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में पर्यटकों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए पुलिस विभाग की आपात सेवा 112 ने अपने कर्मचारियों के प्रशिक्षण का कार्यक्रम शुरू किया है। यह प्रशिक्षण इस संबंध में है कि आपात स्थिति में पर्यटकों को किस तरह की मदद की आवश्यकता हो सकती है और उनको कैसे सहायता पहुंचायी जाए? यूपी 112 ने 18 विदेशी भाषाओं में बात करने की सुविधा भी उपलब्ध कराई है।

पर्यटकों को मिलेगी मदद

ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि बाहर से आने वाले पर्यटकों को किसी भी आपात स्थिति में भाषा संबंधी दिक्कतों का सामना न करना पड़े। विदेशी भाषाओं में बात करने के लिए अनेक नागरिक वालंटियर के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। विदेशी पर्यटकों की संख्या को देखते हुए इंग्लिश, फ्रेंच, स्पैनिश, उर्दू, मलेशियन व कोरियन आदि भाषाओं के वालंटियर अपनी सेवाएं दे रहे हैं तथा विदेशी भाषा के कॉल आने पर संबंधित वालंटियर को कांफ्रेंस पर लेकर अनुवाद कराया जाता है। इन पुलिसकर्मियों की मदद से यूपी में पर्यटकों को काफी आसानी रहेगी।