उत्तर प्रदेश पुलिस के ट्रैफिक विभाग में हमेशा से ही जवानों की कमी की बातें सामने आती रहती हैं। इसी के चलते अब ये फैसला लिया गया है कि बड़ी तादाद में जल्द ही पुलिसकर्मियों का ट्रांसफर ट्रैफिक विभाग में कर दिया जाएगा। इसके लिए जारी हुए आदेश के बाद पुलिसकर्मियों की लिस्ट भी तैयार हो रही है। जल्द ही यह लिस्ट जारी कर दी जाएगी. 

इंस्पेक्टर से लेकर सिपाहियों तक का होगा ट्रांसफर

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में यातायात व्यवस्था में सुधार लाने के लिए 5000 पुलिसकर्मियों को ट्रैफिक पुलिस में भेजने का फैसला किया गया है। इनमें इंस्पेक्टर से लेकर कांस्टेबल स्तर के तक के पुलिसकर्मी शामिल होंगे। ट्रैफिक पुलिस की संख्या बढ़ाने की मांग लंबे समय से चली आ रही है।

डीजीपी की मानें तो ट्रैफिक विभाग ने जवानों की कमी की वजह से दिक्कत काफी समय से हो रही थी। पर, सिविल पुलिस में भी कमी के कारण अभी तक तबादले पर हामी नहीं भरी गईं। पुलिस में नई भर्तियों के बाद अब 5000 पुलिसकर्मियों को ट्रैफिक कार्य में लगाने पर सहमति बनी है। कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण को देखते हुए ट्रैफिक पुलिस की ड्यूटी और बढ़ गई है। इसी के चलते अब तबादले का फैसला लिया गया है।

ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की जिम्मेदारी बढ़ीं

बता दें कि यूपी में ट्रैफिक विभाग के कर्मचारियों पर भी जिम्मेदारी काफी हद तक बढ़ गई है। कोरोना जांच के लिए लोगों को जागरूक भी कर रहे हैं। ट्रैफिक सिगनल तोड़ने तथा हेलमेट व सीट बेल्ट न लगाने और अब तो मास्क चेकिंग जैसे मामलों में कार्रवाई की जिम्मेदारी पहले से है।

रिपोर्ट - संतोष मिश्र