उत्तर प्रदेश के के सहारनपुर पुलिस महकमे से खबर है जहां एक जोड़े की शादी किसी मंडप या मंदिर में नहीं बल्कि पुलिस थाने में हुई। खास बात ये है कि शादी में पुलिस वाले ही बाराती और घराती दोनों बने। हालांकि, इस दौरान दोनों के परिजन भी मौजूद रहे, लेकिन शादी की सारी जिम्मेदारी पुलिसवालों ने उठायी। वहीं, शादी के बाद थानाध्यक्ष ने प्रेमी युगल से वर-वधु बने जोड़े को आशीर्वाद दिया।

जानिए पूरा मामला.... 

आपको बता दें कि, घर से भागे सजातीय प्रेमी युगल की बरामदगी के बाद पुलिस ने परिजनों की सहमति से थाने में ही वरमाला डलवाकर उनकी शादी करा दी। मामला थाना बिहारीगढ़ के अब्दुल्लापुर का है। यहां रहने वाले एक व्यक्ति ने अपनी बेटी के घर से चले जाने के संबंध में सूचना दी थी। पुलिस ने युवती को रहीमपुर गांव के निवासी सूरज सिंह के मकान से बरामद कर लिया। इसके बाद दोनों को थाने लाया गया। युवती ने अपने आपको बालिग बताते हुए अपने शैक्षिक प्रमाण पत्र पेश किए। इसके साथ ही प्रेमी सूरज के साथ शादी करने की बात कही। पुलिस और युवती के परिजनों ने उसे काफी समझाया, लेकिन वह अपनी जिद पर अड़ी रही।  

प्रेमी युगल के जिद के आगे झुके परिजन

प्रेमी युगल किसी भी सूरत में अलग होने को तैयार नहीं था। इसके बाद पुलिस और समाज के जिम्मेदार लोगों ने प्रेमी युगल के परिजनों से बात की। उन्हें समझाने की कोशिश की। इसपर युवक और युवती के परिजनों ने उनके रिश्ते को अपना लिया और शादी के लिए भी सहमति दे दी। बस फिर क्या था, मौका देखते हुए थाना परिसर में ही वरमाला मंगवाया गया और प्रेमी युगल का विवाह करा दिया गया।