Share Market Today बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 87 अंकों की गिरावट के साथ 40194 पर खुला. कोरोना वायरस के चीन से बाहर प्रकोप का डर दुनिया भर के शेयर बाजारों पर फिर हावी हो गया है.

कोरोना वायरस के चीन से बाहर प्रकोप का डर दुनिया भर के शेयर बाजारों पर फिर हावी हो गया है. बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का सेंसेक्स 87 अंकों की गिरावट के साथ 40194 पर खुला. सुबह 10.02 बजे तक सेंसेक्स करीब 300 अंक की गिरावट के साथ 39981 पर पहुंच गया.

इसी प्रकार नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 60 अंकों की गिरावट के साथ 11,738.55 पर खुला और सुबह 10.03 बजे तक करीब 94 अंकों की गिरावट के साथ 11,703.40 तक पहुंच गया.

किन शेयरों में आई गिरावट

सेंसेक्स में बढ़ने वाले प्रमुख शेयरों में नेस्ले, एश‍ियन पेंट्स, जी, एसबीआई और एचयूएल रहे, जबकि गिरावट वाले प्रमुख शेयरों में सिप्ला,जेएसडब्लू स्टील,भारती इन्फ्राटेल, विप्रो, टाटा मोटर्स, टाटा स्टील, आरआईएल, यस बैंक और एचडीएफसी प्रमुख रहे.

रुपये में तेजी

रुपये की शुरुआत मजबूती से हुई है. बुधवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 13 पैसे की मजबूती के साथ 71.75 पर खुला. मंगलवार को रुपया 71.88 पर बंद हुआ था.

एश‍ियाई बाजार टूटे

अमेरिका ने चेतावनी दी थी कि अमेरिकियों को कोरोना वायरस के प्रकोप से सचेत रहना चाहिए, जिसके बाद मंगलवार को अमेरिका का वॉल स्ट्रीट टूट गया और इसके बाद बुधवार को सुबह एश‍ियाई बाजारों की शुरुआत भी गिरावट के साथ हुई.

पिछले दो दिन में सेंसेक्स में भारी गिरावट

बीते दो दिनों से भारतीय शेयर बाजार में गिरावट का सिलसिला जारी है.सप्‍ताह के पहले कारोबारी दिन सेंसेक्‍स 806.89अंक लुढ़का तो वहीं निफ्टी में भी 242 अंकों की गिरावट आई. इसके अगले दिन यानी मंगलवार को सेंसेक्‍स 82 अंक गिरकर 40 हजार 281 अंक पर बंद हुआ तो वहीं निफ्टी करीब 32 अंक की गिरावट के साथ 11 हजार 798 अंक पर रहा.

इस तरह दो दिनों में सेंसेक्‍स 888 अंक जबकि निफ्टी में 274 अंक की गिरावट आई है. गिरावट वाले शेयरों में सनफार्मा, एचसीएल, रिलायंस और इंडसइंड बैंक शामिल हैं. वहीं बढ़त वाले शेयरों की बात करें तो टीसीएस, टाटा स्‍टील, एयरटेल और एसबीआई शामिल हैं.

क्‍या है वजह

दरअसल, निवेशक कोरोना वायरस के वैश्विक अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले प्रभावों को लेकर चिंतित हैं, जिससे बाजार में उतार-चढ़ाव बना हुआ है. इसके अलावा मॉरीशस को वित्तीय कार्रवाई कार्यबल (एफएटीएफ) ने ‘ग्रे लिस्ट’ में डाल दिया है. इसका मंगलवार को भी शेयर बाजार पर दिखा था. बता दें कि भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने मंगलवार को स्पष्ट किया है कि मॉरीशस के विदेशी निवेशक एफपीआई पंजीकरण के पात्र बने रहेंगे. लेकिन उनकी निगरानी बढ़ाई जाएगी.