श्रावस्ती। हर नागरिक के लिए रोटी कपड़ा और मकान अनिवार्य आवश्यकताओं में है। यदि ये तीनो चीजें लोगों के पास रहेगी तो निश्चित ही उनका गुजर बसर आसानी से हो सकेगा। देश एवं प्रदेश की सरकार ऐसे गरीब असहाय जिनके पास अपने परिवार को रखने के लिए झोपड़ पट्टी का ही सहारा था वे अपने गरीबी और निर्धनता के कारण अपना ढंग से रहने के लिए आशियाना बनाने में असमर्थ थे और उनका परिवार झोपड पट्टी में रहने के लिए विवश था। इनके दुःख-दर्द और पीड़ा को देखते हेतु देश एवं प्रदेश की सरकार ने जो प्रधानमंत्री आवास योजना जैसी महत्वपूर्ण योजना चलाकर लोगों को आशियाना उपलब्ध करा रही है जो गरीबों के लिए वरदान साबित हुई है प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के अन्तर्गत आवास के लाभार्थी सुनील कुमार पुत्र अलखराम यादव, मोहल्ला गौतमबुद्व नगर, नगर पालिका परिषद भिनगा, जनपद-श्रावस्ती के निवासी हैं। सुनील कुमार बताते हैं कि मेरा घर बहुत ही पुराना और मिट्टी का घर था, मुझे उम्मीद नही थी कि मैं कभी अपना घर बनेगा क्योकि मेरे अजिविका का एक मात्र साधन खेती थी। जिससे मैं और मेरी पत्नी व दो बच्चों का पालन पोषण किसी तरह कर पाता हूॅ। इस प्रकार से मेरे द्वारा स्वयं से आवास का निर्माण कराया जाना सम्भव नही था। बरसात के मौसम मेरा घर पानी से भर जाता था जिसमे जीवन यापन करना बहुत ही मुश्किल था। सरकार ने हमारा घर प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत जो निर्माण कराया है, उससे हमारा जीवन स्तर ही बदल गया है। हम अपने बच्चों के साथ बहुत खुशहाली से जीवन गुजार रहे हैं, इसके लिए मैं सरकार का जिन्दगी भर आभारी रहूंगा।