भोपाल । अनलॉक के बाद जुलाई में राज्य सरकार का खजाना एकदम से भर गया है। पहली बार केंद्र सरकार ने जीएसटी कंपनसेशन के तौर पर एक साथ 3307 करोड़ रुपए मप्र सरकार को दे दिए हैं। इसके साथ ही प्रदेश के कारोबारियों ने जीएसटी के तौर पर 2157 करोड़ रुपए जमा कराए हैं। पेट्रोल-डीजल पर लगे वैट से राज्य सरकार को 1673 करोड़ रुपए मिले हैं। इस तरह तीनों मदों को मिलाकर कुल 7137 करोड़ रुपए एक माह में राज्य सरकार को मिले हैं। ऐसा पहली बार हुआ है जब सरकार को सभी मदों में मिलाकर इतनी राशि मिली है।इसके पहले मार्च 2021 और दिसंबर 2020 में करीब साढ़े पांच हजार करोड़ का राजस्व एक माह में मिला था। मप्र टैक्स लॉ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष अश्विन लखोटिया ने बताया कि बीते रिटर्न की तारीख बढऩे से कारोबारियों ने एक साथ तीन-चार माह के रिटर्न दाखिल किए हैं। अनलॉक के बाद कारोबार भी तेज हुआ है। इससे भी राजस्व अधिक आया है।