उत्तर प्रदेश के कानपुर में मोटी तोंद वाले थानेदारों के लिए आदेश जारी होने के बाद उन्हें जिम और डायटीशियन के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं। डीआईजी अनंत देव और आईजी रेंज (IG range kanpur) मोहित अग्रवाल इस संबंध में कड़े निर्देश दिए हैं। कहा गया है कि एक महीने के भीतर अगर थानेदार फिट नहीं हुए तो उनकी थानेदारी छिन सकती है। इस आदेश के बाद मोटे थानेदार हैरान और परेशान नजर आ रहे हैं।

इस संबंध में आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने कहा कि वह सप्ताह में एक दिन पुलिस लाइन जाकर मोटे थानेदारों की तोंद कम करवाएंगे और उन्हें शारीरिक-मानसिक रूप से फिट करेंगे। दरअसल, उन्होंने परेड के दौरान पुलिस लाईन का वार्षिक निरीक्षण किया और अपने अधीनस्थों से दौड़ भी लगवाई। इस दौरान कई थानेदार वजन ज्यादा होने की वजह से जल्दी ही हांफने लगे।

उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण के निरीक्षण के दौरान उन्हें कई खामिया मिली हैं, कई थानेदार और सीओ टीयर गन तक नहीं चला पा रहे थे। यही वजह है कि फैसला लिया गया है कि अब इन थानेदारो की दौड़ भी कराई जाएगी और इन्हें प्रशिक्षित भी किया जाएगा, जिसमें वह खुद मौजूद रहेंगे। कानपुर के अनवरगंज, जूही, बिल्हौर थानों समेत कई थानों में ऐसे थानेदार हैं जो शरीर के वजनी होने के चलते थानों मे ही बैठे रहते हैं।

उधर, डीआईजी अनंतदेव का कहना है कि एक महीने तक लगातार सभी मोटे थानेदारों को दौड़ाया जाएगा और उनकी तोंद कम कराई जाएगी। अगर एक महीने के अंदर थानेदार फिट नहीं हुए तो उनसे धानेदारी छीन ली जाएगी। यह आदेश जारी होने के बाद अब मोटे थानेदार परेशान हैं। यही नहीं, डाइटीशियंस और जिम संचालकों से संपर्क कर रहे हैं। डर ऐसा है कि एक थानाध्यक्ष ने तो सर्वोदय नगर स्थित जिम संचालक से एक महीने का पैकेज भी तय कर लिया है।


रिपोर्ट - चंदू शर्मा