उत्तर प्रदेश के मेरठ में चर्चित शातिर कबाड़ी हाजी नईम उर्फ गल्ला के बाद अब बिना किसी देरी के पुलिस ने 32 कबाड़ियों की संपत्ति की लिस्ट बना ली है। इनकी संपत्ति करीब दस अरब की आंकी गई है। गैंगस्टर के तहत चोरी के वाहन काटने वाले इन कबाड़ियों की बेनामी संपत्ति पुलिस जब्त करने की तैयारी में लगी हुई है। कबाड़ियों के नए ठिकानों का भी पुलिस पता लगा रही है। 



जानिए पूरा मामला 

आपको बता दें कि, गल्ला के अलावा सोतीगंज के 32 कबाड़ी पुलिस के रडार पर हैं। इनकी करीब दस अरब की संपत्ति बताई है। पुलिस का दावा है कि चोरी के वाहन काटने वाले सोतीगंज के कबाड़ियों ने अब ठिकाने बदल दिए हैं। इनका पता लगाने के लिए पुलिस लग गई है। एसएसपी ने बताया कि चोरी के वाहनों के पार्ट्स कबाडियों ने कहां छुपाए हैं, इसके लिए ड्रोन से भी निगरानी करेंगे। हाजी इकबाल ने भी चोरी के वाहनों से करोड़ों रुपये के संपत्ति अर्जित की है। 



जीएसटी ने कई कबाड़ियों की खोली पोल पट्टी

पुलिस के मुताबिक जीएसटी ने कई कबाड़ियों की घेराबंदी करनी शुरू कर दी। जिसे लेकर नोटिस दिए हैं। जीएसटी को साथ लेकर पुलिस सभी दुकानों और गोदामों की जांच कराएंगी। जिसको लेकर पुलिस ने पूरी तैयारी कर ली है। पुलिस का दावा है कि सोतीगंज में करीब 165 दुकान और गोदाम हैं। जिन पर कार्रवाई होनी तय है। पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया है। जिसने सोतीगंज की सारी जानकारी ली जा रही है। हाजी गल्ला, हाजी इकबाल, मन्नू, जिशान, तुफेल, राहुल काला समेत कई कबाड़ियों की संपत्ति के बारे में पुलिस को पता चला है। सोतीगंज के मामले में पुलिस की गोपनीय कार्रवाई चल रही है।