उत्तर प्रदेश के मेरठ (Meerut) जनपद के परीक्षितगढ़ के खटकी गांव में फायरिंग की सूचना पर पहुंची पुलिस पर रविवार की देर रात ग्रामीणों ने हमला (Attack on Police) बोल दिया। इस दौरान पुलिसकर्मियों को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा गया। यही नहीं, दारोगा से सरकारी पिस्टल छीनने की कोशिश भी की गई। पुलिस ने इस मामले में सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार, परीक्षितगढ़ के खटकी गांव में शराब पीने को लेकर राजू और मंजीत पक्ष में मारपीट के बाद गोलियां चल गईं। सूचना पर परीक्षितगढ़ थाने में तैनात दारोगा मोहसिन, गोपाल वर्मा, विपिन और सिपाही योगेंद्र व राजकुमार समेत सात पुलिसकर्मी रविवार रात 12 बजे खटकी पहुंचे।

गांव में तीन युवक अनावश्यक घूमते देखकर पुलिसकर्मियों ने उन्हें पकड़ लिया और थाने ले जाने लगे। आरोप है कि युवकों और ग्रामीणों ने पुलिस के साथ मारपीट शुरू कर दी। इस बीच दारोगा गोपाल वर्मा की पिस्टल छीनने का प्रयास भी किया गया। वहीं, हमले में तीनों दारोगा और 2 सिपाही योगेंद्र व राजकुमार घायल हो गए, जिन्हें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया।

उधर, सूचना पाकर परीक्षितगढ़ थाना प्रभारी राजीव कुमार किठौर व भावनपुर समेत कई थाने की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और राजीव उर्फ बिट्टू, अनुज, मुनेंद्र, राजीव, अमित निवासी खटकी व हरेंद्र, उपेंद्र निवासी पतला निवाड़ी मोदीनगर को गिरफ्तार कर लिया। एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि सात नामजद और 25 अज्ञात पर सरकारी कार्य में बाधा डालने, पुलिस पर हमला, जान से मारने का प्रयास, लूट के प्रयास की धारा में रिपोर्ट दर्ज की है।

मामले में एसएसपी ने कहा कि पुलिस पर हमला करने वालों पर गुंडा एक्ट व गैंगस्टर की कार्रवाई होगी। गांव में लाइसेंसी शस्त्रों की भी जांच की जाएगी। मामले की जांच सीओ सदर देहात पूनम सिरोही को सौंपी है।