लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस को सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराने तथा भीड़ एकत्र न होने देने के लिए प्रभावी पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बाजारों में नियमित तौर पर फुट पेट्रोलिंग करने को कहा है। यह जानकारी अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने दी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने ग्रामीण इलाकों में भी सघन पेट्रोलिंग करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही हाई-वे और एक्सप्रेस-वे पर 112 की पीआरवी के माध्यम से पेट्रोलिंग कराने को कहा है। मुख्यमंत्री का कहना है कि केंद्र सरकार की नवीनतम गाइड लाइंस के अनुसार लॉक डाउन अवधि में अनुमन्य गतिविधियों का दायरा बढ़ाए जाने के कारण प्रभावी पेट्रोलिंग जरूरी है। 

श्रमिकों से असुरक्षित यात्रा न करने की अपील 

अपर मुख्य सचिव गृह ने बताया कि गोरखपुर में अब तक 129 ट्रेनों से 157715 कामगार एवं श्रमिक आए हैं, जबकि लखनऊ में 60 ट्रेनों के माध्यम से 75600 लोग आए हैं। इसी तरह वाराणसी में 43, आगरा में 10, कानपुर में 12, जौनपुर में 56, बरेली में 09, बलिया में 26, प्रयागराज में 32, रायबरेली में 12, प्रतापगढ़ में 30, अमेठी में 13, मऊ में 14, अयोध्या में 26, गोण्डा में 49, उन्नाव में 30, बस्ती में 33 और आजमगढ़ में 22 ट्रेनें आ चुकी हैं।

उन्होंने बताया कि प्रदेश में गुजरात से 322 ट्रेनों से 448300 लोग, महाराष्ट्र से 167 ट्रेनों से 211585 लोग तथा पंजाब से 134 ट्रेनों से 152321 प्रवासी कामगारों व श्रमिकों को लाया गया है। प्रदेश के अंदर भी ट्रेनें चलाई गई हैं। उन्होंने श्रमिकों से अपील की कि प्रदेश में कोई पैदल यात्रा न करे। प्रवासी श्रमिक स्वयं तथा अपने परिवार को जोखिम में डालकर पैदल अथवा अवैध या असुरक्षित वाहनों से घर के लिए यात्रा न करें। सरकार सभी प्रवासी श्रमिकों के लिए सुरक्षित यात्रा के लिए पर्याप्त बसों व ट्रेनों की व्यवस्था कर रही है।

रिपोर्ट - संतोष मिश्र mnt news