विक्की कौशल की फिल्म ‘सरदार उधम’ (Sardar Udham) हाल ही में रिलीज हुई है। फिल्म को क्रिटिक्स और दर्शकों की ओर से बेतहाशा प्यार मिला है। इस फिल्म से जुड़े लोगों को बीते दिनों ही बड़ा झटका लगा है जब फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया ने इसे ऑस्कर की एंट्री से बाहर कर दिया था। अब फिल्म फेडरेशन ऑफ इंडिया की जूरी की ओर से ये बात सामने आई है कि आखिर ‘सरदार उधम’ को ऑस्कर एंट्री से बाहर क्यों किया है?

जूरी मेंबर का कहना है कि विक्की कौशल की इस फिल्म में अंग्रेजों के प्रति काफी घृणा दिखाई गई है और इसी वजह के चलते ऐसा फैसला लिया गया है। बात की जाए 'सरदार उधम' की तो इसका डायरेक्शन शूजीत सरकार ने किया है। फिल्म में विक्की कौशल के अलावा स्टीफन होगन, बनिता संधू, अमोल पाराशर और शॉन स्कॉट ने अहम रोल निभाया है। फिल्म को ओटीटी प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज किया गया था।

कुछ ऐसी है 'सरदार उधम' की कहानी

शूजीत सरकार हमेशा से ही लीक से हटकर फिल्में बनाने के लिए जाने जाते हैं। क्रांतिकारी सरदार उधम सिंह पर शूजीत सरकार काफी लम्बे से फिल्म बनाना चाह रहे थे। सरदार उधम सिंह ने अंग्रेजों के खिलाफ बिना किसी डर के अपनी बात सामने रखी थी। उनकी जिंदगी पर बनी फिल्म के लिए मेकर्स ने अभिनेता इरफान खान को चुना था, लेकिन उनके निधन के बाद विक्की कौशल ने इस रोल को प्ले किया है।

इन 2 फिल्मों को किया गया था शॉर्टलिस्ट

ऑस्कर 2022 के लिए ‘सरदार उधम’ और ‘शेरनी’ को शॉर्टलिस्ट किया गया था। शॉर्टलिस्ट करने के बाद अब ‘सरदार उधम’ को बाहर कर दिया गया है। फिल्म ‘शेरनी’ को भी ओटीटी पर ही रिलीज किया गया था और इस फिल्म में विद्या बालन ने लीड रोल अदा किया है। फिल्म में विद्या बालन फॉरेस्ट ऑफिसर के रोल में नजर आई हैं और उनके रोल को हर किसी ने सराहा है।