नई दिल्‍ली । कई देश चीन की कंपनी बाइट डांस के टिकटाक  ऐप को प्राइवेसी के लिए खतरा समझते हैं। भारत में ट्विटर यूजर्स का एक धड़ा लगातार इसपर बैन लगाने की मांग करता रहा है। भारत में टिकटाक के विरोध की अलग ही वजह है। ताजा वजह बना है लड़कियों पर एसिड अटैक को प्रमोट करता एक वीडियो। यह वीडियो टिकटाक के साथ ही ट्विटर पर भी वायरल हुआ। सोमवार से ही #बेन टिकटाक इंडिया ट्विटर पर ट्रेंड हो रहा है। मामला इतना बढ़ा है कि राष्ट्रीय महिला आयोग ने टिकटाक को एक लेटर लिखा है। अभी ज्‍यादा दिन नहीं बीते जब टिकटाक पर कुछ यूजर्स कोरोना को लेकर अफवाहें फैला रहे थे। एक धर्म विशेष की पहचान दिखाकर ये दावा किया जा रहा था कि उन्‍हें कोरोना से कोई खतरा नहीं है। तब भी टिकटाक के खिलाफ अच्‍छा-खासा माहौल बन गया था। फिलहाल जो मामला है उसमें एक लड़का और लड़की एसिड अटैक को प्रमोट कर रहे हैं। यही नहीं, रेप कल्‍चर को भी प्रमोट करता एक टिकटाक वीडियो वायरल हो रहा है। टिकटाक पर यह भी आरोप लगे हैं कि वह चीन के खिलाफ कंटेंट को सेंसर कर देता है। कुछ लोग यह भी आरोप लगाते हैं कि टिकटाक के जरिए भारत में 'लव जिहाद' को बढ़ावा दिया जा रहा है। भारत के ट्विटर यूजर्स ने टिकटाक के खिलाफ मुहिम छेड़ दी है। गूगल प्‍ले स्‍टोर पर ऐप की रेटिंग सोमवार को 3।7 थी जो मंगलवार सुबह तक घटकर 2 पर आ गई। लोगों से ऐप को अनइंस्‍टॉल करने और बैन की डिमांड करने की अपील की जा रही है। कुछ वीडियोज जिनपर लोगों को आपत्ति है, वे शेयर कर सरकार से गुहार लगाई जा रही है कि वे इसे भारत में बैन कर दें। देखिए क्‍या कह रहे हैं यूजर्स। एनसीडब्ल्यू चीफ रेखा शर्मा ने कहा, "मुझे एक सोशल मीडिया पोस्ट की जानकारी मिली है, जिसमें एक पुरुष, जिसका नाम फैजल सिद्दकी है। उसने एक ऐसा वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें एसिड हमले को महिमामंडित किया गया है। मामले का संज्ञान लेते हुए मैंने महाराष्ट्र में पुलिस महानिदेशक को उस व्यक्ति पर कार्रवाई की मांग करते हुए एक पत्र लिखा है।" उन्‍होंने कहा, "आयोग ने टिकटॉक इंडिया के शिकायत अधिकारी अनुज भाटिया को भी पत्र लिखकर उस वीडियो को तुरंत हटाने के लिए कहा है, साथ ही उस व्यक्ति के आईडी को भी ब्लॉक करने के लिए कहा है।" शर्मा ने कहा, "टिकटॉक को पत्र लिखे जाने के बाद वीडियो हटा दिया गया है, लेकिन मैं चाहती हूं कि ऐसे लोगों को किसी भी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर महिलाओं के प्रति अपराध को बढ़ावा देने की जगह न मिले। मालूम हो ‎कि टिकटाक छोटे-छोटे वीडियोज शेयर करने की सुविधा देने वाली बेहद मशहूर ऐप है। अप्रैल एंड तक पूरी दुनिया में इसके 2 बिलियन से ज्‍यादा यूजर्स थे। भारत में भी इस एप के यूजर्स की संख्या अच्छी खासी है, ले‎किन ताजा ‎विवाद के बाद टिकटाक के यूजर्स की संख्या में बडी तादाद में गिरावट आई है।